Aarti Ayachit

Inspirational


5.0  

Aarti Ayachit

Inspirational


पुनर्विवाह

पुनर्विवाह

1 min 444 1 min 444

सज संवर दुल्हन बन आई सिद्धी अपने पिया शिवा के घर। दिल में नए-अरमान लिए नव जीवन की शुरुआत की दोनों ने और सास-ससुर ने खुशी-खुशी स्वागत किया नववधु को बेटी मान। लेकिन ये क्या अभी दुल्हन के हाथों की मेंहदी छूटी न थी कि, कॉलोनी में नेता लोगों की पुरानी रंजिश के चलते झगड़े को रोकने गए शिवा को ग़लती से बंदूक की गोली लगी, शांत हो गया वो।

हफ्ते-भर के भीतर सिद्धी के अरमानों पर मानो पानी फिर गया, परंतु सास-ससुर ने बीड़ा उठाया, इसी बेटी को नथनी सहित श्रृंगार कर दुल्हन का जोड़ा-पहना पुनर्विवाह कर विदा किया।


Rate this content
Log in

More hindi story from Aarti Ayachit

Similar hindi story from Inspirational