Hurry up! before its gone. Grab the BESTSELLERS now.
Hurry up! before its gone. Grab the BESTSELLERS now.

मुक्तक

मुक्तक

1 min 1.4K 1 min 1.4K

छोड़ दो अब उसकी नुमाइश करना

सामने हूँ मैं मुझसे फरमाइश करना

जो तुम चाहती हो अपने दिल से यार !

खुदा की कसम तुम मुझसे मांग लेना...।




Rate this content
Log in

More hindi poem from Kavi sunil Yadav

Similar hindi poem from Romance