Maitri Doshi

Classics Inspirational


4.9  

Maitri Doshi

Classics Inspirational


सत्य की राह

सत्य की राह

1 min 356 1 min 356

जीवन है एक स्वप्न समान, 

सत्य की राह चलो न बनो बेईमान, 

कई निराले रिश्तों से भरा, 

जीवन को बनाए सुख दुख से भरा I


रिश्ते होते है पानी समान, 

जितना रखो बंध मुट्ठी में,

 उतना फीसले, दूरी बढ़ जाए, 

पारदर्शिता दर्शाओ पानी समान I


हीरे मोती चाहे जीवन में सभी, 

सत्य की राह नहीं छोड़ो कभी, 

डटकर चलो पीछे न हटो,

प्रतिबद्धता का करो पालन, खुशियां बाँटो I


सत्य की राह पर चलना है कठिन, 

# सीधी बात बनाएगा रिश्ते निभाना आसान, 

ईमानदारी से निभाओ रिश्ते सभी, 

भरोसा न तोड़ो एक दूजे का कभी I


Rate this content
Log in

More hindi poem from Maitri Doshi

Similar hindi poem from Classics