Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
हद
हद
★★★★★

© Deepshikha Srivastava

Romance

1 Minutes   318    55


Content Ranking

तुम्हें जानना है ना

मेरे प्रेम की हद को

तो बताओ

कौन सा पैमाना है

तुम्हारी जद में....


जो नाप सके -

आसमां की विशालता को !

फिर कैसे जानोगे,

तुम मेरे-

हृदय की अनंतता को!


थाह ले न सके जब,

सागर में संभाव्यता की!

क्या जान सकोगे-

गहराई मेरे अंतस की!!


क्या आंक सके हो ,

गति तुम पवन की?

फिर कैसे समझोगे-

प्रवाहमयता मेरे मन की!!


मेरे पास नहीं है

कोई मापनी..

जो माप सके-

मेरे अहसासों को!

मेरे प्रेम की अगाध-

प्रगाढ़ता को!


बस जीती हूँ मैं

हर क्षण,हर पल..

अपनी रूह से-

तुम्हारी रूह तक के,

मिलन,का सफर..


तुम्हारे नाम-

हाँ सिर्फ तुम्हारे नाम,

मेरी बाकी अब-

हर श्वास है!


हाँ आज भी-

तुमसे मुलाकात की,

बरकरार जाने क्यों-

एक आस है..!!

ह्रदय अहसास श्वास

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..