Garima Kanskar

Drama


2  

Garima Kanskar

Drama


रास्ते जुदा है

रास्ते जुदा है

3 mins 126 3 mins 126

रिया सुबह बहुत जल्दी में ऑफिस जा रही थी।बहुत परेशान भी थी ...

ऐसे में एक महाशय तेजी से आकर उसकी स्कूटी थोक देते है ..


रिया गिर जाती है स्कूटी भी ख़राब हो जाती है

सो सॉरी मिस.. मेरा ध्यान कहि ओर था.. मैं आपको हॉस्पिटल ले चलता हूँ हाथ दीजिये...

प्लीज....आइये आराम से..हेल्लो मै आदि बोल रहा हूँ mg रोड के चौराहे में एक पिंक स्कूटी है आप उसे ठीक कराकर ऑफिस ले आये जी सर.

हॉस्पिटल जाकर

ईलाज कराकर..

आदि रिया से बोलता है

आपको कहाँ जाना है

छोड़ देता हूँ

मुझे साकेत जाना है

साकेत में कहाँ...

मै भी वही जा रहा हूँ

Ok यही रोक दीजिये

यहाँ..

यहाँ किस्से मिलना है

आपको...

ये मेरा ऑफिस है

कपूर एंड सन्स ...

मिस्टर राम कपूर मेरे बॉस है ok..

अब मै जाऊँ..

जाते तो बनेगा नहीं

मैं आपको छोड़ देता हूँ

Gm सर..

तुम यहाँ आ चुके हो?

तुम्हे सब जानते है?

तुमने पहले क्यो नही बताया?

तुम कौन हो?

क्या करते हो?

तुम्हारा नाम क्या है?

रिया बोले ही जा रही थी

आदि को बोलने का मौका ही नही

दिया..

इतने मैं वो लोग ऑफिस पहुँच जाते है.

राम कपूर

रिया को चिल्लाते है..

ये वक्क्त है आने का

सॉरी सर वो मेरा एक्सीडेंट हो गया था

Ok..

ज्यादा लगी तो नही

वैसे ही आदि भी अपने डेड के केबिन में आता है

और कहता है

सॉरी डेड..

रिया आदि की तरफ देखती है

डेड..

तुमने पहले क्यो नही बताया ..

तुमने बोलने का मौका ही नही दिया

वो डेड आज इन्ही का एक्सीडेंट मुझसे हो गया था

रामू इनकी स्कूटी ठीक करा कर लाता ही होगा इसलिये

हम लेट हो गये..

चलो अच्छा है

तुम लोगो की दोस्ती हो गई

काम करने में आसानी होगी...

रिया सारी फाइल्स को पढ़ लीजिये

और प्रेजेंटेशन तैयार कर लीजिये,..

Ok

पर मेरे हाथ मे तो लगी है

कोई बात नही आप बताती जाये

मैं बनाता हूँ

थोड़ी देर में प्रेजेंटेशन तैयार हो जाता हैआइये आपको घर छोड़ देता हूँ।

मेरी स्कूटी रामू ले आयेगा..

Ok..

रिया घर आतीं है

ये क्या हुआ

कुछ नही मामूली सा एक्सीडेंट हो गया था

अब ठीक हूँ..

आदि रिया को छोड़कर घर चला जाता है

पर रिया उसके ख्यालो में रह जाती हैं.

वो समझ ही नही पाता कि

ये क्या है?

इस क्यो हो रहा है

सोचते सोचते घर आ जाता हैं

घर मे आदि की बचपन की दोस्त मिष्टी उनका इंतजार कर रही थी

हाय कैसा है

मुझे क्या हुआ

तू बता

बिन बताये आई है

अच्छा सरप्राइज दिया है

अभी तो एक सरप्राइज और है

क्या

कल हमारी सगाई है

कल

तुम्हे कोई परेशानी है क्या नही तो...

Ok कल मिलते है फंक्शन में

ओक गुड नाइट.

.यहाँ आदि रिया के ख्यालो में खोया रहता है

सगाई तो कर लेता है..

पर उसका दिल तो

रिया के लिये धड़कता है..

जब वो ऑफिस में रिया के साथ होता तो वो बहुत खुश होता था।

पर मिष्ठी के साथ को खुशी उसे नही मिलती

धीरे धीरे उसे एहसास होने लगा था कि वो रिया से बेइंतिहा प्यार करने लगा है।

रिया ई बात से बिल्कुल अंजान थी.

.मिष्ठी आदि को कॉल करती है

गेस व्हाट

क्या बोलो

हमारी शादी की डेट फिक्स हो गई है

तुम्हारे पापा यही है.

मुझें डेड से बात करनी है..

डेड अभी आप कुछ मत बोलिये..

घर आइये मुझे बात करनी है

सॉरी मिष्टि बेटा..

इस बारे में बाद में बात करते है

अभी आदि बुला रहा है

क्या हुआ आदि

डेड मै

ये शादी नही कर सकता क्यों

मैं मिष्टि से प्यार नही करता

तो किससे रिया से

रिया के साथ होता हूँ तो बहुत खुश होता हूँ।रिया जानती है

नही..

पर मिष्टि को कैसे बताऊँ

बताना तो होगा डेडब

एक सठबकी जिंदगी

बर्बाद हो जायेंगी

अच्छा डेड में मिष्टि से बात करता हूँ

हाँ मिष्टि मुझे तुमसे मिलना है

अभी मैं आ रहा हूँ

तुम गार्डन में आओ

Ok

मिष्टि गार्डन में आती है

आदि आता है और कहता है मिष्टि हम दोस्त है

और दोस्त ही रहेंगे

मैंने बहुत कोशिश की मैं तुम्हारे लिये वो फिल करूँ

पर नही कर पा रहा हूँ

हम शादी नही कर सकते.

तो किससे प्यार करते हो

मुझे जानने का हक है

रिया.

आदि मिष्टि को अंगूठी देता है और कहता है

हमारे रास्ते जुदा है।


Rate this content
Log in

More hindi story from Garima Kanskar

Similar hindi story from Drama