Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".
Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".

Monika Sharma "mann"

Drama


3.6  

Monika Sharma "mann"

Drama


पीरियड्स

पीरियड्स

3 mins 3.3K 3 mins 3.3K

अविका अभी 10 साल की ही थी। कक्षा 5 में पढ़ती थी। अचानक उसको स्कूल जाने के समय पेट में बड़ी तेज दर्द शुरू हो गया। उसने मां से शिकायत की "मांँ मेरे पेट में बहुत दर्द है "।माँ ने सोचा स्कूल ना जाने का बहाना होगा। माँ ने कहा " स्कूल तो जाना पड़ेगा ,परीक्षाएं पास में आ रही हैं मैं नहीं चाहती कि तुम्हारी पढ़ाई पर किसी भी तरह का कोई प्रभाव पड़े "।

पेट दर्द ठीक हो जाएगा कुछ खा लो और चली जाओ।मांँ ने अविका को नमक अजवाइन को दिया। अविका अनमने मन से स्कूल गई।

स्कूल में पेट पकड़ कर बैठी रही। जब चौथा पीरियड आया तो वह बाथरूम गई।वहाँ उसने देखना कि उसके सारे कपड़े खून में लथपथ हो चुके थे। वह घबरा गई। जब वापस क्लास में आई तो उसकी क्लास टीचर ने कहा "अविका लगता है तुम्हारे पीरियड स्टार्ट हो गए हैं "।क्या तुम्हारी मांँ ने तुम्हें इसके बारे में कुछ नहीं बताया ? अविका रोने लगी नहीं मैंम माँ ने इसके बारे में कुछ भी नहीं बताया। क्लास टीचर ने उसे रेखा

जो कि अविका की दोस्त थी उसके साथ

गृह विज्ञान की टीचर के पास भेजा।

रेखा अविका को लेकर गृह विज्ञान की टीचर के पास चली गई। टीचर ने उसे एक लंबा सा कपड़ा दिया और रेखा को कहा के तुम अविका को इसका इस्तेमाल करना बता दो 

अविका के घर में स्कूल से फोन से कराया गया। मगर उसके मांँ बाप दोनों ही काम पर जाते थे ,तो किसी ने भी फोन नहीं उठाया।

मोबाइल किसी के पास भी ना था।   

जब छुट्टी हुई तो तब तक उसके सारे कपड़े गंदे हो चुके थे।जो भी उसको देखता सब उसका मजाक उड़ाते। वह स्कूल से लेकर घर तक एक मजाक बनकर रह गई थी। सब लोग उसको कहते हाअ! देखो उसके कपड़े गंदे हैं।

लड़के मजाक उड़ाते हैं" अरे देखो देखो इसके पीरियड स्टार्ट हो गए हैं"।अविका

जब घर आई तो घर पर कोई ना था। वह खूब दुखी हुई।

शाम को जब माँ घर आई तो उसने मांँ से सारी बात बताई। मांँ ने।अविका को मारा डांँटा कि ऐसा तूने क्या किया कि तेरे इतनी जल्दी मासिक धर्म शुरू हो गया।

अविका की मांँ पढ़ी-लिखी होने के बावजूद भी अविका को गलत समझने लगी। उसने अविका से न जाने कितने अनगिनत सवाल पूछे। "किसी ने तुझे छुआ? किसी ने तेरे साथ कोई गलत काम तो नहीं किया? किसी ने तेरे व्यक्तिगत अंगों को हाथ तो नहीं लगाया"? ना जाने क्या-क्या !!!

अविका रोती जा रही थी और मांँ से बोले जा रही थी "मांँ मुझे नहीं पता मेरे साथ क्या हो रहा है मगर तुम ऐसे सवाल क्यों कर रही हो"? 

मैं तो कहीं जाती भी नहीं। अविका के पापा जैसे ही घर आए के पापा उसकी मांँ ने अविका के बारे में सब कुछ बताया।

अविका की माँ स्वयं ने तो डॉक्टर के पास न जाकर अविका को उसके पिता के साथ डॉक्टर के पास भेज दिया।

 डॉक्टर अविका के पापा को समझाते हुए कहा "आजकल हारमोंस के कारण बहुत जल्दी पीरियड आ जाते हैं "। यह एक नॉर्मल सी बात है।

अविका के पापा ने अविका की शारीरिक जांच भी कराई।

 अविका इस बात से बहुत परेशान थी।डाक्टर ने अविका को नार्मल किया।

बात साधारण थी परंतु न जाने क्यों पढ़े-लिखे इंसानों ने भी उसको इतना बतंगड़ बना डाला।  अविका के अब जब भी पीरियड्स आते वह स्कूल से छुट्टी मार लेती। मन में बार-बार सोचती कि वह अब दोबारा मजाक नहीं बनेगी।


Rate this content
Log in

More hindi story from Monika Sharma "mann"

Similar hindi story from Drama