Rudra Sanjay Sharma

Abstract


4  

Rudra Sanjay Sharma

Abstract


मैं कौन हूँ

मैं कौन हूँ

1 min 203 1 min 203

मैं कौन हूँ ?

यह मेरा जानना, मेरे लिए पर्याप्त है।

विश्व को बताने की,

मुझे नहीं कदापि

आवश्यकता लेशमात्र है। 


विश्व की मेरे परिचय से अनभिज्ञता,

विश्व का दुर्भाग्य है।

अतः हे विश्व !

यदि अपने भाग्य के सूर्य को सदा,


उदित रखना है चाहता,

तो तम रूपी प्रतीत होने वाली,

मेरी प्रकाश रूपी वास्तविकता,

जानने की नि:संदेह तुझे है आवश्यकता।


Rate this content
Log in

More hindi story from Rudra Sanjay Sharma

Similar hindi story from Abstract