Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

Prem Bajaj

Drama


4  

Prem Bajaj

Drama


स्वतन्त्रता दिवस

स्वतन्त्रता दिवस

2 mins 13 2 mins 13

15 अगस्त का दिन हमारे लिए बहुत ही भाग्यशाली एवं महत्वपूर्ण है, इस दिन हमें ब्रिटिश शासन से मुक्ति मिली थी इसलिए हर वर्ष 15 अगस्त को तिंरगा फहराया जाता है, एवं 21 तोपों की सलामी दी जाती है, और उन शहीदों को याद किया जाता है  बहुत समय तक हमने अंग्रेजों की गुलामी सही, धन्य वो सपूत हैं जिनकी वजह से आज हम आज़ादी की सांस ले रहे हैं15 अगस्त को हम एक उत्सव की तरह मनाते हैं। 

14 अगस्त 1947 की रात को पंडित जवाहरलाल नेहरू जी ने आज़ादी की घोषणा की थी, और 15 अगस्त को पहली बार लाल किले पर तिरंगा फहराया गया अपने पूर्वजों के अकथ संघर्ष के कारण ही आज हम आज़ादी का जश्न मना पाते हैं

हम सदैव अपने सैनानियों के एवं ऊन महान नेताओं के श्रृणीं रहेंगे, जिन्होंने अहिंसा मार्ग पर चल कर, अपनी कुर्बानी देकर देश को आज़ाद कराया  

गांधी जी, नेता जी सुभाष चन्द्र बोस, भगत सिंह जी, सुखदेव एवं अन्य स्वतन्त्रता सैनानियों को कोटि - कोटि नमन उन वीरों को, ऊन शहीदों को नमन, उन क्षत्राणियों को नमन जिन्होंने स्वत्रंता संग्राम में अपनी कुर्बानी दी 

ऐसे महान पुरुषों एवं वीरांगनाओं को हम कैसे भूल सकते हैं, एक दिन के लिए ही सही हमें उन्हें श्रद्धांजलि देनी चाहिए

अमन का देश है भारत, भारत एक ऐसा देश है जहां अनेकों धर्म, पंरम्परा और संस्कृति के लोग हैं, अनेक होकर भी सब एक हैं, सब साथ रहते हैं ‌, सब मिलकर त्योहारों का आनन्द लेते हैं, यहां अनेकता में एकता है 

हमारी रगोंं में नशा है तिरंगे की आन का 

हमारी रगों में नशा है मातृभूमि के मान का 

तिरंगा लहराएंगे यूं सदा शान से हमारी 

रगों में नशा है हिन्दूस्तान की शान का। 


Rate this content
Log in

More hindi poem from Prem Bajaj

Similar hindi poem from Drama