Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Dinesh paliwal

Inspirational

5.0  

Dinesh paliwal

Inspirational

।। किस्त ।।

।। किस्त ।।

2 mins
557



इन इच्छा और तमन्नाओं की ,

जाने कितनी ही है फ़ेहरिस्त ,

जीवन क्या,बस साँसों का सौदा ,

ता-उम्र यहाँ बस भरनी किस्त ।।

ज़र का कर्ज तो चुक भी जाये ,

जो बोझ आत्मा पर कोई आये ,

उस एक एक कर्ज चुकाने में ,

लग जाती जाने कितनी पुश्त ,

जीवन क्या बस साँसों का सौदा,

ता-उम्र यहाँ बस भरनी किस्त।।


कितने सूरज उदय हुए नित ,

कितनी किरणों के ख्वाब रचे ,

जो मुट्ठी में ली पकड़ रोशनी ,

दीपक दल में थे कोहराम मचे ,

मन के जुगनू भी दिखा राह ,

एक एक कर के हो रहे अस्त ,

जीवन क्या बस साँसों का सौदा,

ता-उम्र यहाँ बस भरनी किस्त।।


कुछ मन की की कुछ बेमानी ,

कुछ सूझ बूझ कुछ नादानी ,

कुछ जग के डर से मानी हैं ,

कुछ में अड़ कर आनाकानी ,

कुछ कर्ज़ तले हैं ये कांधे दबे ,

कुछ पी कर घी का प्याला मस्त ,

जीवन क्या बस साँसों का सौदा ,

ता-उम्र यहाँ बस भरनी किस्त।।


बचपन आशाओं का बोझ लिये ,

यौवन उम्मीदें नित रोज़ लिये ,

कभी पात्र तो कभी मैं दाता हूँ ,

कभी कोई और माइने खोज लिये ,

इस जीवन रण में आभा अपनी ,

ना चुनौतियाँ कर पाई निरस्त ,

जीवन क्या बस साँसों का सौदा ,

ता-उम्र यहाँ बस भरनी किस्त।।



Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Inspirational