Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!
Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!

Ajay Nannar

Abstract Inspirational


4  

Ajay Nannar

Abstract Inspirational


स्वतंत्रता दिवस की 73 वर्ष

स्वतंत्रता दिवस की 73 वर्ष

5 mins 46 5 mins 46

इस वर्ष भारत अपना 74वा स्वतंत्रता दिवस मनाएगा। १५ अगस्त १९४७ को हमारा देश ब्रिटिश शासन से पूरी तरह आज़ाद हुआ था। 

15 अगस्त 1947 भारत के लिए बहुत भाग्यशाली दिन था। इस दिन अंग्रजों की लगभग 200 वर्ष गुलामी के बाद हमारे देश को आज़ादी प्राप्त हुई थी। भारत को आज़ादी दिलाने के लिए कई स्वतंत्रता सेनानियों को अपनी जान गवानी पड़ी थी। स्वतंत्रता सेनानियों के कठिन संघर्ष के बाद भारत अंग्रजों की हुकूमत से आज़ाद हुआ था। तब से ले कर आज तक 15 अगस्त को हम स्वतंत्रता दिवस मानते हैं।

स्वतंत्रता दिवस को भारत में राष्ट्रीय अवकाश होता है। इसके एक दिन पहले भारत के राष्ट्रपति देश के समक्ष संबोधित करते हैं। जिसे रेडियो के साथ कई टीवी चैनेल्स में भी दिखया जाता है। स्वतंत्रता दिवस को हर वर्ष देश के प्रधानमंत्री लाल किला पर तिरंगा फहराते हैं। तिरंगा फहराने के बाद राष्ट्र गान गया जाता है और 21 बार गोलियां चला कर सलामी भी दी जाती है। इसके साथ ही भारतीय सशस्त्र बल, अर्धसैनिक बल और एनएनसीसी कैडेड परेड करते हैं। इस दिन लाल किला से टीवी के डी डी नेशनल चैनल और आल इंडिया रेडियो में सीधा प्रसारण किया जाता है। आतंकवाद के खतरे को ध्यान में रखते हुए सुरक्षा के कड़े इन्तजाम भी किये जाते हैं।

केवल देश की राजधानी के साथ देश के अन्य सभी राज्यों में भी मुख्यमंत्री सम्मान के साथ तिरंगा फहराते हैं। 15 अगस्त को हमारे महान स्वतंत्रता सेनानियों को श्रधांजलि दी जाती और उनका सम्मान किया जाता है। इस दिन देशभक्ति के गीत और नारे लगाये जाते हैं। वहीं कुछ लोग पतंग उड़ा कर आजादी का पर्व मनाते है।

भारत में हर वर्ष स्वत्रंता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है। प्रत्येक व्यक्ति के लिए स्वतंत्रता का विशेष महत्व होता इस लिए हर भारतीय के लिए यह दिन बहुत महत्व रखता है। 15 अगस्त 1947 को भारत को अंग्रजों की परतंत्रता के बाद स्वतंत्रता प्राप्त हुई थी। स्वतंत्रता दिवस को हम राष्ट्रीय त्योहार के रूप में मानते हैं।

कई वर्षों के विद्रोहों के बाद ही हमने स्वतंत्रता प्राप्त की और 14 और 15 अगस्त 1947 की मध्यरात्रि को भारत एक स्वतंत्र देश बन गया। दिल्ली के लाल किला में पंडित जवाहर लाल नेहरू ने पहली बार भारत के झंडे का अनावरण किया था। उन्होंने मध्यरात्रि के स्ट्रोक पर “ट्रास्ट विस्ट डेस्टिनी” भाषण दिया। पूरे राष्ट्र ने उन्हें अत्यंत खुशी और संतुष्टि के साथ सुना। तब से हर वर्ष स्वतंत्रता दिवस पर, प्रधान मंत्री पुरानी दिल्ली में लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं और जनता को संबोधित करते हैं। इसके साथ ही तिरंगे को 21 तोपों की सलामी भी दी जाती है।

इस दिन सभी सरकारी दफ्तर, कार्यालयों में तिरंगा फहराया जाता है और राष्ट्रगान “जन-गण-मन” गया जाता है। स्कूल, कालेजो में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है और मिठाइयां बांटी जाती हैं। मंगल पांडे, सुभाषचंद्र चंद्र बोस, भगतसिंह, रामप्रसाद बिस्मिल, रानी लक्ष्मीबाई, महात्मा गांधी, अशफाक उल्ला खां, चन्द्रशेखर आजाद, सुखदेव, राजगुरु आदि कई स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों को याद किया जाता है।

कुछ भारतीय पतंग उड़ा कर तो कुछ कबूतर उड़ा कर आज़ादी मानते हैं। प्रतिवर्ष स्वतंत्रता दिवस मनाना भारत के स्वतंत्रता के इतिहास को जिंदा रखता है और आजादी का सही मतलब लोगों को समझाता है।

प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी भारत १५ अगस्त को अपना स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस दिन ही हमारे देश को वर्षों की गुलामी के बाद आज़ादी मिली थी। हम सभी लोग १५ अगस्त के दिन को मिलजुलकर मनाते हैं। हालाँकि इस वर्ष कोरोना महामारी फैली हुई है लेकिन फिर भी स्वतंत्रता दिवस को लेकर हम सब के उत्साह में कोई कमी नहीं है। हम सब इस दिन स्वतंत्रता को लेकर अपने विचार व्यक्त करना चाहते है। इसके साथ ही इस मौके पर कुछ न कुछ बोलना भी चाहते हैं। 

15 अगस्त हमेशा हमारे लिए इतना खास रहा है कि एक दिन जब हम अपने देश की सारी महिमा याद करते हैं क्योंकि हम संघर्ष, विद्रोह और भारतीय स्वतंत्रता से लड़ने वाले भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों के प्रयासों को याद करते हैं। भारत का स्वतंत्रता दिवस न केवल ब्रिटिश राज के शासन से भारत की आजादी को दर्शाता है, बल्कि यह इस देश की शक्ति को भी दिखाता है। और ये दिखाता है कि जब वह इस देश के सभी लोगों को एकजुट करता है ।

कई वर्षों तक अंग्रेज़ों के द्वारा गुलामी झेलने के बाद १५ अगस्त १९४७ को हमारा देश आज़ाद हुआ था। अंग्रेज़ों के अत्याचार सहने के बाद कितने ही सेनानियों ने बलिदान दिया। तब जाकर कहीं हमे आज़ादी मिली। इस अवसर पर देश के प्रधानमंत्री राजधानी दिल्ली में स्थित लाल किले से राष्ट्रीय झंडा फहराते और उन सभी सेनानियों को याद करते हैं।

देश दिन प्रतिदिन केवल आगे बढ़ गया है और एक महाशक्ति बनने के अपने रास्ते पर है। भारत की स्वतंत्रता के चार वर्षों के पूरा होने से पहले, हमने इसे संविधान की शुरूआत के साथ गणराज्य बनाकर देश को मजबूत किया जिससे पूरी दुनिया झुकती है। हम एक विशाल विविधता का देश हैं, और हमारी एकता हमें एक मजबूत राष्ट्र बनाती है। प्रौद्योगिकी से कृषि तक हम दुनिया के शीर्ष देशों में से एक हैं, और यहां से कोई पीछे नहीं जा रहा है क्योंकि हम हमेशा बढ़ने और बेहतर करने के कदम पर हैं।

आज, जैसा कि हम स्वतंत्रता दिवस पर अपने देश की सभी उपलब्धियों को याद करते हैं, हम अपने सैनिकों को न भूलें। हमारे बहादुर सैनिकों के लिए धन्यवाद कि हम उनके कारण अपने देश में शांति में रह सकते हैं क्योंकि हम जानते हैं कि वे हमेशा हमारी रक्षा करने के लिए वहां रहते हैं। वे भारत को धमकी देने वाली आतंकवादी ताकतों से हमें सुरक्षित रखते हैं।आइए हम अपने सैनिकों से प्रेरित हों और हमारे देश को रहने के लिए एक बेहतर जगह बनाने के लिए मिलकर काम करें। कोई भी देश सही नहीं है, और हमारी भी कमियां हैं। इस स्वतंत्रता दिवस 2020 पर, हम अपने देश को महान बनाने के लिए नागरिकों के रूप में अपना काम करने का वचन देते हैं।


Rate this content
Log in

More hindi story from Ajay Nannar

Similar hindi story from Abstract