कलमकार सत्येन्द्र सिंह

Drama Crime Inspirational


3  

कलमकार सत्येन्द्र सिंह

Drama Crime Inspirational


कृष्ण भक्त

कृष्ण भक्त

1 min 37 1 min 37

वह कृष्ण का भक्त था।

कभी वृन्दावन, कभी मथुरा, कभी द्वारका,जहाँ मौका मिलता कृष्ण की शरण में पहुँच जाता।

एक दिन वह स्वप्न देखता है कि उसकी मृत्यु हो गई है।

मृत्यु के बाद स्वर्ग में कृष्ण उससे मिलने से मना कर देते हैं।

वह आहत होता है,उसे अचरज होता है कि किस गलती,किस पाप की सज़ा उसे मिल रही है,वह अपने अराध्य से मिल नहीं सकता,खुद उसके अराध्य ने मिलने से मना कर दिया।

उसकी नींद खुल जाती है तो देखता है कि सामने टी. वी. में निर्भया की खबर चल रही थी।

उसे सहसा याद आया कि अपने इलाके की निर्भया को वह बचाने नहीं गया था।


Rate this content
Log in

More hindi story from कलमकार सत्येन्द्र सिंह

Similar hindi story from Drama