कलमकार सत्येन्द्र सिंह

Others


2  

कलमकार सत्येन्द्र सिंह

Others


संस्कार

संस्कार

1 min 159 1 min 159

वह दुल्हे मंडी में गए

तरह तरह के दुल्हे...देसी...विदेशी...सरकारी नौकरी वाले...बिजनेस वाले...खानदानी रईस...आदि

सबकी अपनी कीमत...लाख...दो लाख...करोड़...

कोई साईकल में ही बिकने को तैयार...तो कोई बेटियों के आदान प्रदान वाले बार्टर सिस्टम में संतुष्ट होने को तैयार

सबसे ज्यादा कीमत तो घर जमाई की थी

एक दूल्हा संस्कारी था...वह मुफ़्त में उपलब्ध था


Rate this content
Log in