Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

SANDIP SINGH

Inspirational

4  

SANDIP SINGH

Inspirational

तृष्णा से सफ़लता

तृष्णा से सफ़लता

1 min
243


आकांक्षाओं के सागर में मन तैरते हैं,

एक नहीं हजारों तृष्णा में हम जीते हैं,

मेरे हिसाब से तृष्णा पालना भी चाहिए_

पूर्ण करने हेतु हर कोशिश करना ही है।


मन भी बहुत ही चुस्त_फुर्त रहता है,

खूनों में एक नव रवानगी भी रहता है,

तृष्णा की एक जोत भी साथ में रहते:_

फिर यह सफर मज़ेदार ही रहता है।


अगर कुछ नया कर गुजरना है,

आकांक्षाओं को तब बढ़ाना है,

ओढ़ मेहनत की चादर को अब:_

सफ़लता का इतिहास लिखना है।


सार्थक जीवन को करना है,

नाम अमर कर ही जाना है,

क्यों ना कल्याणकारी ही बनें:_

लोगों के दिलों में अब रहना है।


जीवन चक्र को समझना है,

खेल को खेल ही समझना है,

प्रेम की बीज ही बोते चलें:_

तब ही तृष्णा पूर्ण होता है।


तब आत्मिक सकूं मिलता है,

मनुज जन्म सार्थक लगता है,

कुछ विरासत बना छोड़ जाना:_

तब दुआएं भी खूब मिलता है।



Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Inspirational