Independence Day Book Fair - 75% flat discount all physical books and all E-books for free! Use coupon code "FREE75". Click here
Independence Day Book Fair - 75% flat discount all physical books and all E-books for free! Use coupon code "FREE75". Click here

J P Raghuwanshi

Inspirational


4  

J P Raghuwanshi

Inspirational


देवी वंदना

देवी वंदना

1 min 550 1 min 550

मैं आन परौ तोरे द्वार,

लाज राखो जगदम्बा।


कलियुग ने उत्पात मचायों,

मन,बुद्धि अरु चित्र बिगारो।

तुम्हीं करो संवार,

लाज राखो जगदम्बा।

मैं आन परौ--------


कुपथ मार्ग से सुपथ चलाओं,

काम,क्रोध, मद,लोभ भगाओं।

माया से करो पार,

लाज राखो जगदम्बा।

मैं आन परो--------


ब्रह्मा विष्णु पार न पावें,

ऋषि मुनि सब ध्यान लगावें।

हम बालक नादान,

लाज राखों जगदम्बा।

मैं आन परो--------


मैहर वाली मातु भवानी,

हैं मैया जी जग कल्याणी।

ले लो अब अवतार,

लाज राखो जगदम्बा।

मैं आन परो--------


Rate this content
Log in

More hindi poem from J P Raghuwanshi

Similar hindi poem from Inspirational