dinesh kumar keer

Abstract Drama Others


3  

dinesh kumar keer

Abstract Drama Others


महामारी के खिलाफ, जागरूकता

महामारी के खिलाफ, जागरूकता

2 mins 609 2 mins 609

गुरुजी:- सुनो बच्चों, अभी आई एक सीएम की चिट्ठी है के आदेशानुसार। तेरह मार्च से तीस मार्च तक स्कूल, कोचिंग, कॉलेज बच्चों की छुट्टी है। अमन:- गुरुजी क्या कोई नया पर्व या त्यौहार है। क्यों हमे इतने दिनों की छुट्टियां मिली है। गुरुजी:- चीन देश में जोरों से छाया कोरोना नामक वायरस है। यह वायरस हम तक फैल न जाए इसकी तैयारी है। आरुष:- गुरुजी यह क्या बीमारी है बताइए इसका नाम ? 

और कैसे बचें इससे व क्या है इससे बचने के उपाय ? गुरुजी:- सर्दी, खांसी, जुखाम से फैलती है यह वायरस कोरोना नामक बीमारी है। मुंह पर मास्क पहनकर, बार-बार हाथ को धोकर, बीमारी से बचा जा सकता है। इसमे सिर मे दर्द, गले में दर्द, खांसी, जुकाम और होता बुखार है।

यह कोरोना वायरस, कम-तापमान पर पनपता, और फैलता बेसूमार है। अनिक:- क्या नहीं कोई ऐसी दवा या कोई टीका है जिससे बचा जा सके ? कोई तो उपाय होगा जो हम कर सके और इस बीमारी को फैलने से रोक सकें? गुरुजी:- हमे भीड़-भाड़ वाली जगह पर जाने स बचना है। अधिक दिनों का ठंडा, पैकिंग खाद्य पदार्थ नहीं करना है। और यह नहीं फैलता जब-तक कोई। संक्रमित हमारे पास ना आए जब-तक। बच्चों यदि आपको इस बीमारी के लक्षण दिखाई दे तो ? आप लोग डॉक्टर सलाह लेकर नियमित रूप मे दवाओं का सेवन करें। अनीश:- वर्तमान मे इस बीमारी अथार्त महामारी के संक्रमण के डर के कारण। लोगों के जन-जीवन व राष्ट्र की अर्थव्यवस्था पर भी असर पड रहा है। गुरुजी:- बच्चों, ना खाओ तुम कोई संक्रमित खाद्यपदार्थों को। बच्चों, भयानक है यह महामारी, लोगों को सावधान करो। अवनी:- ऐसा कौन-सा काम करें ? लोगों को बचाने में। गांव-गांव, शहर-शहर, ढाणी-ढाणी में, जागरूकता की अलख जगाने में। सभी एक स्वर में:- आओ हम सब मिलकर संकल्प लें, लोगों को इस भयानक बीमारी से बचाएं। गांव-गांव, ढाणी-ढाणी, शहर-शहर से लेकर, यह जानकारी दूर-दराज के लोगों तक पहुंचाएं।


Rate this content
Log in

More hindi story from dinesh kumar keer

Similar hindi story from Abstract