Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Indira Tiwari

Inspirational

2  

Indira Tiwari

Inspirational

वक़्त

वक़्त

1 min
196


आज वक़्त कुछ ऐसा हो रहा है

कि वक़्त भी अपने वक़्त पर रो रहा है


न कोई आगे न पीछे दिख रहा है

इंसान इंसानियत बिना बिक रहा है


लोग घर बैठे है अपने अपने

आँख मूंदकर देख रहे है नामुमकिन सपने


क्या वे जानते है ? ये सपने है उनके

या नहीं है उनके अपने ?


मुमकिन हो या नामुमकिन

सपने सच करना काम है हमारा ,


ये सब सच होते है जब

आसमान में टूटता है एक तारा ,


आसमान के भरोसे क्यों ?

जब विश्वास साथ हो हमारा !



Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Inspirational