Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Richa Baijal

Inspirational

3  

Richa Baijal

Inspirational

सीधी बात लोगों को समझ नहीं आती है

सीधी बात लोगों को समझ नहीं आती है

2 mins
794


सीधी बात लोगों को समझ नहीं आती है ,

 विश्वास की मिठास खो जाती है ,

जब आदत पड़ चुकी हो 'चाशनी ' वाली चाय की ;

तब फिर फीकी चाय में वो बात कहाँ आती है !


दफ्तर में 'साहब ' ने कहा किसी काम के लिए

सीधे मना कर देने में नाक घिस जाती है

चमचागिरी ही रास आती है

अपना काम किसी और को देकर सिफारिशी चिट्ठी लिए बैठे हैं ,

ये वो 'अफसर ' हैं जो अपनी कुर्सी पर अकड़ कर बैठे हैं, 

'मुमकिन ' नहीं इनको कुछ भी कह सकना

क्यूंकि #सीधीबात इनको समझ नहीं आती है .


मॉल्स के वाउचर लिए बैठे हैं

कस्टमर डिस्काउंट की चाह लिए बैठे हैं

१०० रुपये के फ्री सामान के चक्कर में

वो क्रेडिट कार्ड के बड़े बड़े 'बिल ' लेकर बैठे हैं

४ किलो के राशन की ज़रूरत थी

लेकिन ४० किलो का स्टॉक करके बैठे हैं

#सीधीबात समझ न पाते हैं ;

ऑफर्स का ज्ञान सिखाते हैं , खपत से ज़्यादा सामान घर ले आते हैं .


#सीधीबात का मतलब इतना था

वो जो मेरा अपना था

मैंने कहा कोरोना है ; इस वक्त न जाओ बाहर

लेकिन उसका कोई मुझसे ज़्यादा अपना था

मिलना ज़रूरी था ;

प्रेम का समर्पण इस वक्त ही जताना था

और , उसको बाहर ही जाना था

मुझसे लड़कर , मुझको गलत समझकर न जाने क्या बताना था

दोस्त ही यूँ गैर हो गया

वो #सीधीबात सुनकर मुझसे दूर हो गया

अब मनाने में वक्त लगेगा

#सीधीबात है कि उसे जताने में वक्त लगेगा

क्यूंकि #सीधीबात आजकल लोगों को समझ नहीं आती है

जब आदत पड़ चुकी हो 'चाशनी ' वाली चाय की ,

तब फिर फीकी चाय में वो बात कहाँ आती है !! 


Rate this content
Log in