Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.
Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.

Harendra Kumar

Abstract


5.0  

Harendra Kumar

Abstract


तेरा मजहब कौन

तेरा मजहब कौन

1 min 606 1 min 606

मस्जिद पर गिरता है

और मंदिर पर भी बरसता है

ए बादल बता

तेरा मजहब कौन सा है।


इमाम की तू प्यास बुझाए

और पुजारी की भी तृष्णा मिटाए

ए पानी बता

तेरा मजहब कौन सा है।


मजारों की शान बढ़ाता है

और मूर्तियों को भी सजाता है

ए फूल बता

तेरा मजहब कौन सा है।


सारे जहां को रोशन करता है

और सृष्टी को भी उजाला देता है

ए सूरज बता

तेरा मजहब कौन सा है।


कभी ईद पर इंतजार

और कभी करवाचौथ पर दीदार

ऐ चांद बता

तेरा मजहब कौन सा है।


मुस्लिम तुझ पर कब्र बनाता है

और हिंदू आखिर तुझमें ही

विलीन होता है

ए मिट्टी बता

तेरा मजहब कौन सा है।


Rate this content
Log in

More hindi story from Harendra Kumar

Similar hindi story from Abstract