Himanshu Shrotriya

Romance

4  

Himanshu Shrotriya

Romance

प्यार

प्यार

1 min
151


उसको आइना दिखा दिया मैंने, 

उसके बगैर जी कर दिखा दिया मैंने।


साथ रहना या न रहना तो किस्मत कि बात है, 

अलग होकर भी साथ रहना सिखा दिया मैंने।


वो कहती थी मुझको भुला न पाओगे,

उसकी यादो को आज दफना दिया मैंने।


उसके बगैर जी कर दिखा दिया मैंने,

उसको आइना दिखा दिया मैंने।


Rate this content
Log in

More hindi story from Himanshu Shrotriya

Similar hindi story from Romance