Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.
Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.

Akanksha Gupta

Drama


2  

Akanksha Gupta

Drama


दिखावा

दिखावा

2 mins 96 2 mins 96

चारों ओर रौशनी से जगमगाते झूमर लटक रहे थे। वर्धन परिवार एक साथ कैमरे के सामने खड़े हो कर अपनी अखंड एकता का प्रचार कर रहा था। आज वर्धन इंडस्ट्रीज के स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में एक छोटी सी पार्टी का आयोजन किया गया था। अपने अपने क्षेत्रों में प्रसिद्धि प्राप्त कर चुके अनेक नामी गिरामी हस्तियां उस पार्टी में शामिल थीं। सभी वर्धन परिवार की सफलता और एकता की चर्चा कर रहे थे। सभी लोग पीने पिलाने में व्यस्त थे।

लगभग आधी रात के बाद जब पार्टी खत्म हुई और सभी लोग अपने अपने घर चले गए तो उसके बाद वर्धन परिवार का एक अलग ही पहलू उभर कर सामने आने लगा।

वर्धन परिवार एक संयुक्त परिवार था जिसमें कुल आठ लोग रहते थे। इस परिवार के मुखिया श्री मकरंद लाल वर्धन और उमा वर्धन अपने बेटे करुण वर्धन और वरुण वर्धन के साथ रहते थे। करुण की पत्नी इना और वरुण की पत्नी जिया भी उसी परिवार का एक हिस्सा थे। करुण का बेटा आर्यन और वरुण की बेटी पिया इस परिवार की भावी पीढ़ी थीं जिनके कंधो पर इस व्यापार का भविष्य टिका हुआ था।

वर्धन परिवार के सभी लोग घर के हॉल में सोफे पर पसरे हुए थे सिवाय बच्चों को छोड़कर जो पार्टी के बीच में ही सोने चले गए थे।

“आज की पार्टी शानदार रही।” करुण ने गिलास से शराब का घूंट भरते हुए कहा।

“हाँ एक से बढ़कर एक बिजनेसमैन, एक्टर मंत्री सब आये थे। मेरे ख्याल से अब हमारी कम्पनी का टर्नओवर तीस हजार करोड़ हो जाना चाहिए।”



Rate this content
Log in

More hindi story from Akanksha Gupta

Similar hindi story from Drama