Read On the Go with our Latest e-Books. Click here
Read On the Go with our Latest e-Books. Click here

यमुना धर त्रिपाठी

Inspirational


4  

यमुना धर त्रिपाठी

Inspirational


समय बड़ा बलवान है...!

समय बड़ा बलवान है...!

1 min 241 1 min 241

अब सुख-अब दुख,

आते रुक-रुक;

यही ईश विधान है,

समय बड़ा बलवान है।


आतप-झंझावात सही,

आए प्रलय-प्रवाह भी;

रहता यह गतिमान है,

समय बड़ा बलवान है।


दुर्गम-निर्जन-सघन विटप,

शहरी बहुमंजिली इमारत,

चलायमान अविराम है,

समय बड़ा बलवान है।


मन्दबुद्धि हो या विद्वान,

निर्धन हो या फिर धनवान;

करता व्यवहार समान है,

समय बड़ा बलवान है।


Rate this content
Log in

More hindi poem from यमुना धर त्रिपाठी

Similar hindi poem from Inspirational