We welcome you to write a short hostel story and win prizes of up to Rs 41,000. Click here!
We welcome you to write a short hostel story and win prizes of up to Rs 41,000. Click here!

Monika Baheti

Romance


4.0  

Monika Baheti

Romance


इश्क़ की आखरी साँस ओ पिया तेरे नाम

इश्क़ की आखरी साँस ओ पिया तेरे नाम

7 mins 195 7 mins 195

खुला आसमान...बर्फ़िला वो जहान....पहाड़ों में लगी जहाँ लम्बी कतारें.. मनाली शहर था उसके लिए अनजान..

दिल वाली दिल्ली की एक लड़की.....

सपनों की दुनिया मुंबई का एक लड़का....

उन दोनों की अनोखी थी प्रेम कहानी...


एक बस में मिले वो दो अनजान.....जिद्दी वो लड़की.. घमंडी वो लड़का...दोनों के दिल मिलने वाले थे इस बात से थे वो अनजान....रिया ओर राज की ये प्रेम कहानी है....


रिया पहली बार दुनिया के नज़ारे देखने मनाली की ओर अकेले चल पड़ी...राज अपने दोस्त के साथ trip पर निकलता है! एक ही बस में दोनों आगे पीछे की सीट पर बैठे थे! राज को पहली नज़र में ही रिया से प्यार हो गया! पहली नज़र में वो ऐसा जादू कर गयी उसके दिल की धड़कन उसके साथ इस कदर जुड़ गयी जैसे मधु के बिना शहद कहा... वो चुप चुप के उसे देखे जा रहा था! हाय वो अंदर ही अंदर उससे बात करने को तडपे जा रहा था!

राज-hello angle....

रिया- No reply 

वो बस की खिड़की से बाहर देखते हुए नज़ारे का आनंद ले रही थी, रास्ते में अचानक बस रुकी...वाह एक लड़की गुलाब के फूल बेच रही थी! गुलाब के फूल को देख कर वह ऐसे मुस्कुराइ जैसे बाग में खिलता फूल हो! रिया गुलाब के फूल को खरीदने जैसे ही बस से उतरी उसने देखा सारे फूल बिक चुके थे.. वह ये देख कर उदास हो गई!  यह राज से देखा ना गया! वह उसकी खुशी के लिए कही से भी फूल ले कर आया!

Raaj - Hey beautiful lady.....yeah beautiful rose tumahre liye, 

Riya - Thank you ..... Kya hum dost ban skate hai....?

Raj - yeah beautiful girl .........

राज के दिल कि मुराद पूरी हुई धीरे धीरे उनकी बाते शुरू हुई....

Raaj- hey.. I'm Raj.... Or tum..?

Riya - I'm Riya.... 

राज पुछता है रिया से तुम कहाँ जा रही हो... रिया मनाली... और तुम....मैं भी मनाली.. 

रिया....दुनिया में मुझे लगता प्यारा वो जहाँ .....बर्फ़िलि श्वेत पहाड़ीयां है जहाँ....आसमान है नीला सफेद चादर सा जहां....पहाड़ों पर जमी बर्फ जैसे मुलायम सा बिस्तर हो वहाँ.....

पहाड़ों का सुकून...जंगल के शेर ...और प्यारे पक्षी की गुनगुनाहट....

I like this..... राज उसकी बातें सुनता सुनता उसकी बातों में खो सा गया

Finally उसकी प्यारी बाते सुनते सुनते उसे उससे ओर प्यार हो सा गया............

रिया पुछती है उससे कहा जा रहे हो तुम.....

वो उसकी बातों में ऐसा खोया सा होता है जैसे चाँद की चांदनी में खोया आसमान.....

रिया जोर से चिल्ला कर बोलती है....अरे ओ Mr. Aanjan..... कहाँ खो गया... 

राज मन ही मन में कहता है.....अरे ओ मेरी दिल की धड़कन तेरी इन शराबी आँखों में....ओर तेरी इन प्यारी बातों में... 

मुस्कुराते हुए राज कहता है.....कही नहीं आरे ओ पागल.. Miss. Angel....

Raaj - miss angel लगता है तुम्हें भूलने की बीमारी है....अभी तो बताया था... मनाली जा रहा हूँ!...

रिया देखो बाते करते करते मनाली भी आ गया ओर पता भी नहीं चला......

वो दोनों बस से उतर जाते हैं....

Riya - bye Mr. Aajaan......

Chlo apna saath iitna hi tha fiir milte hai.... 

Raj - tum kha jaa rahi ho....?Riya - hotel mai rukne.... 

Raj - humare saath chlo... 

Riya - No...

राज बहुत दुखी हो जाता है.....वह सोचता है अब क्या करूँ .....वह अपने दोस्तों के साथ नहीं रुकता....वह रिया के पीछे पीछे उसके होटल जाता हैं....रिया वहाँ अपना कमरा ले रही होती हैं....तब ही वहाँ रिया का पीछा करते करते राज आ जाता है....


Raj - Hey.... Miss. Angel ....

Riya - tum yaaha....? Tum apne dosto kai saath nhi gye.... 

Riya - khi tum mera picha too nhi kar rhe... Mr. Aanjaan......? 

Raj - No... No... Smart girl...Actually us hotel kai rooms saare booking ho gye... Tb mere ko ider aana pda.. 

Riya - okay....

होटल में एक ही रूम खाली होता है... वह दोनों को एक साथ आया समझ कर एक ही रूम दे देता है...

रिया अपना सामान ले कर कमरे में चली जाती हैं....ओर राज अपने दोस्तों से सामान ले कर होटल आ जाता है.....

वह जैसे ही कमरा खोलता है तो देखता है उसके कमरे में रिया सो रही होती है...

Raj - tum yaahaa....?Riya - tum.....? 


दोनों लड़ने लगते है ये मेरा रूम है....नहीं ये तुम्हारा नहीं मेरा रूम है....

लड़ते लड़ते बात इतनी बढ़ जाती हैं की दोनों एक दूसरे के दोस्त से दुश्मन बन जाते हैं.... 

Raj - Chalo FIR hotel ke manager se Puchte Hain...

Riya - okay... Chlo fiir

Riya or Raj - manager btao humara room number kya hai... Hum dono ko ek hi room aapne kaise diya... 

Manager - hotel Mai ek hi room available tha or aapko baate krata dekh muje lga aap saath mai ho too maine aapko ek hi room de diya.... 

Riya- hum saath mai nhi hai muje koi duskra room do.... 

Manager-sorry mam dusra room available nhi hai.... 

Raj - chlo chodo apun ek saath hi room sharing kar lete hai... Wese bhi raat ho chuki hai.. Abhi dusri hotel Mai Room khali nhi milega....Ch 1 - पहली नज़र वाला प्यार


राज कि नज़रें उससे एक पल के लिए ना हटती है....राज माइक लेकर सब के सामने अपने प्यार का इजहार करता है... 

ओ मेरे दिल की धड़कन....

आज कुछ कहना है तुम से....

अरे ओ पिया तेरा नशा छाया है मुझ पर कुछ इस कदर....

जब देखूं मैं तुम को तुम मुझे चाँद सी हसीन लगती हो... 

तुम्हारी ये शराबी आँखें नील गगन सी लगती है....

तुम्हारे ये कोमल गुलाबी होंठ गुलाब कि पंखुड़ी से लगते है...

जब तुम मुस्कुराती हो तो ऐसा लगता है जैसे बाग में अभी अभी सुगन्धित फूल खिले है...

जब तुम मेरे सामने आती हो तो ये दिल कि धड़कने तेज हो जाती है 

मौसम भी बदल सा जाता है 

ये हवाएँ तेज सी हो जाती हैं 

आसमान में गुलाबी बादल छा से जाते हैं 

इंद्र धनुष के सतरंगी रंग खिल से जाते है 

फूल खिल ने को आ जाते हैं 

भँवरे प्यार के गीत गाते है 

तितलियाँ भी बागों में झुम झुम के अपना नाच दिखाती है...

मेरा चेहरा भी तुम को देख कर खिल सा जाता है 

आँखों ही आँखों से दिल का हाल बयां कर जाता है 

पर तुम से कुछ नहीं कह पाता है 

पता है क्यों.....?

ये दिल तुम को खोने से डरता है

पता है तुम को... तुम पहली नजर में ही मेरे दिल कि जान बन गयी.. 

Riya...i love you...you love me....

Riya - yes.... राज खुशी से झुमने लगता है ओर रिया को गोद में उठा कर घूमने लगता है...


कहानी में एक मोड़ आता है....

किस्मत को उनका साथ कैसे मंज़ूर होता है..... 

ज़िन्दगी में प्यार इतनी आसानी से थोड़ी मिलता है...


वो मिल कर भी बिछड़ जाते हैं.....खुदा का करिश्मा तो देखो वो मिल कर भी बिछड़ जाते हैं... 

रिया कि तबीयत अचानक खराब हो जाती हैं.... 

उसे अस्पताल ले जाया जाता है...वहाँ बहुत सारी testing कि जाती हैं....

Report भी आ जाती हैं....

Doctor रिया अब कुछ दिनों कि मेहमान है....उसे blood cancer है....

राज को जब रिया कि बीमारी का पता चलता है तो उसके दिल को जोर का झटका लगता है....

राज रिया से मिलने जाता है....

रिया रो रही होती हैं...

राज... अरे पगली क्यों रो रही है...

जीना भी साथ साथ है...ओर मरना भी साथ साथ है... 

जीतने भी दिन बचे हो....हम ऐसे जीयेंगे....जैसे हम ने पुरी ज़िन्दगी जी ली हो... 

वो पुरी दुनिया ओर अपनी बीमारी को भूल कर ऐसे जीते है....जैसे अभी ही ये ज़िन्दगी शुरू हुई हो.... 

देखते ही देखते कब दिन निकल जाते है पता नहीं चलता !....

वो आखरी घड़ी आ ही जाती....जब रिया अंतिम साँस ले रही होती हैं....

उसकी जान बस राज में अटकी होती हैं...

वह राज का इंतजार कर रही होती हैं...राज जब उसके पास आता है.... 

वह उसे देख कर उसका हाथ थाम कर अपनी आखरी साँस लेकर हमेशा के लिए अपनी आँखें बन्द कर लेती है....

वो दुनिया छोड़ कर तो चली गयी....

पर अपनी आत्मा राज के दिल में छोड़ गई.... 

वह अपनी आखरी साँस ओ पिया तेरे नाम कर गयी... 


दो यार बिछड़ गए .. 

दो प्यार करने वाले पंछी एक दूजे से जुदा हो गये... 

खुदा को भी उनकी जोड़ी कहा मंजूर थी... 


रिया को खोकर राज इस कदर टूट गया... वो जिन्दा हो कर भी बस लाश बनकर रह गया....

वह उसकी यादों के सहारे अपनी ज़िन्दगी बिताने लगा....

ज़िन्दगी भर उसकी याद में जीने का वादा कर के बस ये ज़िन्दगी खुशी खुशी जीने लगा..... 


क्या ऐसे भी प्यार करने वाले होते है जो ज़िन्दगी भर एक ही इंसान से प्यार करते है जो उसे कभी ना मिले.....यही है उन दो प्यार करने वालों की कहानी इसी के साथ समाप्त होती हैं Mr. Aanjaan..or Miss. Angel की कहनी....चलो इसी के साथ मिलते है अब अगली कहानी में .....



Rate this content
Log in

More hindi story from Monika Baheti

Similar hindi story from Romance