Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Praveen Gola

Inspirational

3  

Praveen Gola

Inspirational

भारत के वीर

भारत के वीर

1 min
76


भारत के वीर ,ना हुए अधीर ,दुर्गम मार्ग पर ,

हरदम डटे रहे ,देश के लिए ,बहादुर मिटते रहे।

ढेरों खाई आईं ,इन्हे झुका ना पाईं ,ये अपने कर्तव्य ,

पर मरते रहे ,भारत के वीर ,दुश्मन से लड़ते रहे।

सपने इनके भी थे ,जो ये जी ना सके ,कुछ कड़वे घूँट ,

ये पी ना सके ,भारत के वीर ,कर्म करते रहे।

थकना इनको ना आया ,झुकना इनको ना आया ,

अपना सीना तान ,ये जख्म सहते रहे ,भारत के वीर ,रक्षा करते रहे। 



Rate this content
Log in

Similar hindi poem from Inspirational