Click here for New Arrivals! Titles you should read this August.
Click here for New Arrivals! Titles you should read this August.

Shri krishna Yadav

Inspirational


5.0  

Shri krishna Yadav

Inspirational


अपनी हिंदी प्यारी है

अपनी हिंदी प्यारी है

1 min 450 1 min 450

उत्कृष्ट और सुहानी है, ये अपनी हिंदी प्यारी है 

जनमानस के अभिव्यक्ति की, अमृत से भी

न्यारी है 

वाद और भाषण में, मेघ गर्जना से भी भारी है 

वसुधा से अंबर तक फैली, वायु में यह जारी है 

उत्कृष्ट और सुहानी...


भंवरों के गुनगुन कर जैसी, क्षितिज में फुलवारी है 

बच्चों  के बहलावे जैसी, लोरी और किलकारी है 

झरने से गिरते जल जैसी, खल खल खल

खलकारी है 

कलरव करती पक्षी से भी, मीठी भाषा हमारी है 

उत्कृष्ट और सुहानी ..


कर्ण शोभिनी, मनमोहनी चंचल ये मृदुवाणी है 

प्रेमी माला के लफ़्ज़ों जैसी, शीतल ये फुशकारी है 

बाँसुरी के गुनगुन कर जैसी, राग ये मतवाली है 

सुंदर छैला के छम-छम कर जैसी, बेसर, पायल

और बाली है 

उत्कृष्ट और सुहानी...


उदासी में खुश करने जैसी, किसी प्रेमी की 

शहजादी है 

नफरत में नफरत के बदले, मोहब्बत कर जाने

की आदी है 

उत्कृष्ट और सुहानी....


Rate this content
Log in

More hindi poem from Shri krishna Yadav

Similar hindi poem from Inspirational