Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.
Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.

Sandeep Panwar

Drama


4.8  

Sandeep Panwar

Drama


वीरान रास्ते

वीरान रास्ते

1 min 643 1 min 643

एक कहानी एक कॉलोनी की जहाँ 

लोग है कानून है बस इंसान नहीं है

ये लोग नहीं है इनके कोई जज्बात नहीं है

यहाँ सब कुछ है बस इंसान नहीं है।


बरसों पहले की ये कहानी है 

जहाँ वीरान थे रास्ते और 

सूखे फलो की ये जुबानी है। 


आंख खोली थी मैंने यहाँ

सब सही मानकर 

कुछ नम आंखों को खुशी मिली थी 

बस यहीं बात जानकर।


वीरान रास्तो की नम 

उन आंखों में मुझे दिखी थी 

नाकामयाबी उनके बहुत छुपाने में।


जबसे इन रास्तो पे चलता मैं जा रहा हूँ

मुड़ना है कही पर मुड़ा कही जा रहा हूँ

ये दलदल है कोई या गहरा कुआ है 

यहाँ सब कुछ है झूठ हर इंसान ही अधूरा है।


मैं पला हूँ यहाँ बस ये ही मेरी हकीकत है

मैं बुरा नहीं हूँ जनाब

इस दलदल की यही फितरत है।


यहाँ चेहरों पे ऐसे चेहरे है

जैसे अन्धो की बस्ती में हजारों बहरे है

मैं चेहरों में चेहरे समझ नहीं पता हूँ

जब ही इन रास्तों पर

आसानी से भटक जाता हूँ।


मुझे छोड़ो न इन रास्ते पर 

यहाँ इंसान नहीं शैतान बहुत है

तुम समझते नहीं मेरे भीतर भी

कतरे कतरे में हैवान बहुत है।


Rate this content
Log in

More hindi story from Sandeep Panwar

Similar hindi story from Drama