Divyani Bhagat

Tragedy Action Inspirational


3.3  

Divyani Bhagat

Tragedy Action Inspirational


लॉकडाउन की बातें कुछ सही कुछ गलत

लॉकडाउन की बातें कुछ सही कुछ गलत

1 min 96 1 min 96

यह कुछ तीन महीने पहले की बात है जब हमारा देश पुरा बन्द हो गया था और हम सब भी अपने घरो में बन्द थे। पहले ऐसा लगा जैसे हमे जेल में डाल दिया गया है लेकिन बाद में उस वक़्त मे हमे पता चला की घर ही हमारे लिये सबसे ज्यादा सुरक्षित जगह है। हमे अपने परिवार के साथ बहुत अच्छा समय बिताने मिला।

इस लॉकडाउन ने हमें खुद से मिलया है। हमे खुद को अच्छी तरह से जानने का अवसर मिला है। लेकिन इस कोरोना वायरस ने हमारे देश को तहस-नहस करके रख दिया है। सभी लोगों से यही गुजरीज है कि आप अपने परिवार का ध्यान रखें और अपना भी ध्यान रखे। और जब भी तबीयत खराब होती हैं तो तुरंत डॉक्टर को दिखाय। सभी अपने घरो में रहिए और सुकुशल रहिए।


Rate this content
Log in

More hindi story from Divyani Bhagat

Similar hindi story from Tragedy