Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra
Participate in the 3rd Season of STORYMIRROR SCHOOLS WRITING COMPETITION - the BIGGEST Writing Competition in India for School Students & Teachers and win a 2N/3D holiday trip from Club Mahindra

christian saini

Drama


5.0  

christian saini

Drama


अधूरी कहानी

अधूरी कहानी

2 mins 292 2 mins 292

प्यार ये प्यार भी अजीब है जब होता है तो सब कुछ हसीं और जब टूटता है सब वीरान , वही दीपक और प्रिया का प्यार था।

दोनों की मुलाकात एक कॉलेज में हुई , प्रिया लिखने में अच्छी थी और दीपक गाने में अच्छा था ! कहतें है मोह्हबत तकरार से ही होती है यहाँ भी कुछ ऐसा ही हाल था , दीपक और प्रिया की आपस में कभी नहीं बनती थी , पर तब क्या करना जब क़िस्मत में प्यार लिखा हो ,म्यूजिक कॉम्पिटिशन के लिए दीपक और प्रिया को कॉलेज से भेजा गया , वही प्रिया के पैर में चोट लग गयी तब पूरा कार्यकम दीपक ने संभाल लिया और प्रिया का उतना ही ख्याल रखा वापसी वक्त प्रिया दीपक को थैंक यू कहती है तभी दोस्ती की शुरुआत होती है , 2 साल तक दोनों की दोस्ती इतनी बड़ गयी की किसी एक को अगर चोट भी आये तो दूजा घबरा जाता तभी दीपक को प्रिया से प्यार का एहसास हुआ और प्रिया ने भी कुबूल किया उसका प्यार पर कहते है वक्त किसी के लिए ठहरता नहीं वही दीपक का अमेरिका जाना हुआ ,दीपक प्रिया से वादा करता है 2 साल के बाद वो लौटकर उससे शादी करे गा यहाँ प्रिया का बुरा हाल था पर वो दीपक के सामने कुछ नहीं बोली दीपक को भी पता था की प्रिया उदास है पर वो दो साल के बाद उसकी शादी को सोचकर मुस्कुराने लगा , 2साल बीत गया दीपक वापस आ गया एयरपोर्ट पे प्रिया उसका इंतज़ार करके खड़ी थी वो प्रिया के पास जाता है और गले लगा लेता है पर प्रिया बबहुत जल्दी उसे अपने लाइब्रेरी की और ले जाती है और वहाँ से एक डायरी उठा के देती है वो डायरी प्रिया की ही होती है उसमे लिखा होता है उसे एक बीमारी थी जिसके कारण उसके पास ज्यादा टाइम नहीं था तभी मेने तुम्हारे डैड से आके तुम्हें अमेरिका भेजने की बात की ताकी जब में मरूं तुम्हारा रोता हुआ चेहरा मेरे आसपास भी न हो दीपक वही डायरी बंद करके आसपास देखता है तब वंहा कोई नहीं होता पर प्रिया मरते मरते उसकी और दीपक की निशानी छोड़ गयी थी जब दीपक अमेरिका होता है उसने नन्ही सी प्रिया को जनम दिया होता है दीपक जब अपने घर पहुँचता है तो उसके डैड नन्ही सी प्रिया को सुला रहे होते है तब उसके डैड कहते है बेटा , अब यही तेरी प्रिया है ले संभाल और दीपक आज भी अपनी नन्ही सी प्रिया के साथ अपनी प्रिया की तस्वीर देख कर बात करता है और अभी भी उससे प्यार करता है !


Rate this content
Log in

More hindi story from christian saini

Similar hindi story from Drama