Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

तुम बिन

तुम बिन

1 min 119 1 min 119

ऐसा नहीं कि

तुम बिन जीवन नहीं।


पर ये जो ज़िंदादिली है,

तुम से ही है।


Rate this content
Log in

More hindi poem from एकांत *

Similar hindi poem from Romance