Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".
Win cash rewards worth Rs.45,000. Participate in "A Writing Contest with a TWIST".

Nand Kumar

Inspirational


4  

Nand Kumar

Inspirational


हमारे ऋषि

हमारे ऋषि

1 min 213 1 min 213

परमारथ के कारण ऋषि मुनि, 

धरा पे नर तन धर आए ।

सभी सुखी हो सभी निरोगी ,

भक्ति मार्ग को समझाए ।।


ज्ञानवान ऋषियों से हम सब, 

भक्ति मुक्ति को है पाते ।

परम पूज्य ऋषि देव हमारे ,

हमको सच्ची राह दिखाते ।।


प्रेम प्रभू को पाने का है , 

सबसे सुगम तरीका ।

बिना प्रेम के मिले न ईश्वर, 

इस बिन सब कुछ फीका ।।


ऋषि मुनियो के ज्ञान भरे , 

उपदेश परम हितकारी ।

धर्म सभाओं मे उनका ही ,

रहता मन्थन जारी ।।


तज प्रपंच को हरदम ही यह ,

करते रहते हरि का ध्यान ।

सबका हित ही मांगे प्रभु से, 

उपकारी नहि इनके  समान ।।


Rate this content
Log in

More hindi poem from Nand Kumar

Similar hindi poem from Inspirational