Dr. Kalpana Pandey

Tragedy


4.0  

Dr. Kalpana Pandey

Tragedy


स्तर

स्तर

1 min 224 1 min 224


" बिन गुरु ज्ञान न होंहि गोपाला " मस्ती में झूमते छात्रों की बोली सुनकर, " ये कक्षा में क्या शोर मचा रखा है? टीचर को आने में दो मिनट देर क्या हो गई, शुरु हो गया रामचरितमानस । सुबह आते ही अनुशासन भूल जाते हो। तुम्हारा मंत्रजाप दूर से ही सुनाई दे रहा है। पढ़ते-लिखते हो नहीं दोहा-चौपाई रटने से क्या होगा? चलो जाकर खड़े हो जाओ।बच्चों के मन की पवित्रता, निश्छल प्रेम, गुरु के प्रति श्रद्धा अचानक से, सबका स्तर गिर गया।


Rate this content
Log in

More hindi story from Dr. Kalpana Pandey

Similar hindi story from Tragedy