Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!
Click Here. Romance Combo up for Grabs to Read while it Rains!

PuNeet Kumar

Abstract


3  

PuNeet Kumar

Abstract


बस वक़्त ही तो है, आज नहीं तो,

बस वक़्त ही तो है, आज नहीं तो,

2 mins 384 2 mins 384


बस वक़्त ही तो है, आज नहीं तो,

कल निकल ही जायेगा।

   

दिमाग़ में इतना तनाव क्यों पाल रखा है 

इतनी प्यारी मुस्कान पर भोज क्यों डाल रखा है 

सवालों से घेरे रहते हो फिर किस्मत को कोसते हो 

कि मेरे साथ तो ऐसा ही होगा। 

नम्बर कम आये उसकी टेंशन ज्यादा आये

तो उससे ज्यादा क्यों नहीं आये उसकी टेंशन, 

ब्रेकअप की टेंशन, 

हार्ड ब्रेक की टेंशन, 

जिसकी होनी नहीं चाहिए उसकी भी टेंशन। 

देखो जो डिजर्व करते हो तुम तो तुम्हें मिल ही जायेगा

हाँ मानता हूँ तुम्हें जल्दी चाहिए, 

पर जल्दबाजी से नहीं मिलेगा, 

सिर्फ सोचते रहने से नहीं    

उसके लिए कदम बडाना पड़ेगा 

ऐसा मेरे साथ ही होता है 

ये सवाल दिमाग़ से निकलना होगा 

तुम्हारा साथ देने के लिए कोई नहीं है, 

तो अकेले ही निकल पढ़ो, 

कोई ना कोई रास्ता तो निकल ही आएगा

पुरानी बताओ को छोड़ के कुछ नया तो सोचो 

बस वक़्त ही तो है, आज नहीं तो, 

 कल निकल ही जायेगा। 

           

सुबह उठने पर भी ताने मिलते है 

खुद पर डॉउट करने के कितने वहाने मिलते है। 

सोचते हो, वैसा होता नहीं है कैसा पर ज़िन्दगी में कुछ पल कितने डरावने मिलते है ना 

अंदर से टूटे हो किसी को बता नहीं सकते 

ख्याल में क्या चला है किसी को बता नहीं सकते 

तेज भी चल रहे है फिर भी किसी ने रोका है 

ज़िन्दगी में क्या हो रहा है खुद को भी समझा नहीं सकते

हाँ कुछ गलतियां हुई है उनके लिए आज भी सुनना पड़ता है

अब ज़िन्दगी से हार रहे हो अब जीने का मन भी नहीं करता।

पर जिस वक़्त ये ख्याल आये ना उस वक़्त इसे नोच लेना

अपने लिए ही ना सही अपनों से जुड़ी ज़िन्दगी के बारे में एक बार सोच लेना

सब कुछ ख़त्म कर देना ज़िन्दगी का हल नहीं, 

चलते रहो कभी ना कभी तो अपना वक़्त भी आएगा 

अपने ही ख्यालों से हार गये तो दुनिया से क्या जीतोगे

बस वक़्त ही तो है आज नहीं तो, 

कल निकल ही जायेगा। 

             

बात छोटी ही है पर आज बड़ी लग रही होगी 

जब ये वक़्त निकल जायेगा, 

तब सोचोगे, मुझे इसकी टेंशन हो रही थी 

सबकी ज़िन्दगी में परेशानियां, सबकी ज़िन्दगी में मुश्किलें होती है उसके कारण जीना ही भुला जाये, 

अरे ज़िन्दगी में सबसे जरुरी तो "ज़िन्दगी" ही होगी है

कभी ये मत सोचना ये परेशानियां ज़िन्दगी भर रहेगी

ये वक़्त निकल जायेगा बस खुद पर भरोसा रखो और कमजोर मत पडने दो खुद को, 

बस वक़्त ही तो है, आज नहीं तो,

कल निकल ही जायेगा। 

   



Rate this content
Log in

More hindi poem from PuNeet Kumar

Similar hindi poem from Abstract