Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
प्यारी बिटिया
प्यारी बिटिया
★★★★★

© Mudita Krishan

Inspirational

2 Minutes   15.6K    287


Content Ranking

छोटी-सी गुड़िया, आफत की पुड़िया।
पायल की झनकार, आँखो में प्यार।
नन्हे-नन्हे कदमों के निशान छोड़ते जाना,
अल्फाज़ों की कहानी में एक अक्षर कह जाना।
छोटी-सी उबासी और पल भर की अंगड़ाई,
लाती है चेहरे पर मुस्कान अनचाही।

प्यारे प्यारे बोल मिश्री के घोल,
हँसने से हो जाते हैं गाल गोल मटोल।

दिन भर माँ- माँ करके पीछे-पीछे डोलना,
एक नन्हे से दुपट्टे में मुझको छुपा लेना।
ज्यों ज्यों लाडो बड़ी होती जाती,
समय की कहानी उसे समझ आती|
आँखो में सपने बुनते जाते हैं,
पर कोशिशों में सपने टूट जाते हैं|
आज कुछ नया करने की मन में लहर जागी,
आँख खोल देखा तो उम्मीद नज़र आयी|
चल पड़ी एक नयी डगर पर बिना राहों को जाने,
मंज़िल कुछ धुँधली सी नज़र आयी

पर पास जाने की एक लकीर नज़र आयी|
ज़िन्दगी को जीना सीखती जा रही हूँ,
नयी नयी राहों पे चलती जा रही हूँ|
कलम तो यूँ ही चलती जा रही है,
नये नये शब्दों को पन्नों पे लिखती जा रही है|
लोग आये तो आकर उम्मीद दे गये,
जब गये तो आँखों में लहर दे गये|
यादों की बारात लेकर हम जीते जा रहे,
ज़िन्दगी में लोग खास बनते जा रहे|
जब कुछ समझने की बारी हमारी आयी,
तब ज़िम्मेदारियों की राह नज़र आयी|
आज भी वो एक नन्ही सी गुड़िया है,
क्योंकि बच्चे में ही माँ की पूरी दुनिया है|
समय की सुई ज़िन्दगी कम करती है,
पर ज़िन्दगी में यादों को बसर कर देती है|
यादों में जब कोई दस्तक दे जाता है,
कलियों की खुशबू सा उसको महकाता है|
हाँथों में हाँथ अपनों का साथ,
कदमों में कदमों का साया सा आज।
शिद्दतों की दुआओं में बहुत असर होगा,
अपनी कायनातों में अपना पहरा होगा|
इस गुमसुम सी दुनिया से खुद को उबारो,
नयी नयी राहों से आसमाँ बना लो|
बीते हुए पलों को यादों में समा लो,
आँखों में पलों के चिन्हों को बसा लो|
छोटी-छोटी गलियों से नयी राह बना लो,
दुनिया से परे एक नया जहाँ बना लो|

Poem written by me on ma life from born to now...

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..