Shubhi Agarwal

Inspirational


3  

Shubhi Agarwal

Inspirational


सपनो की उड़ान

सपनो की उड़ान

1 min 35 1 min 35

मुश्किले कितनी भी हो मार्ग मे अब नहीं मुझको रुकना है,

क्योंकि मुझे अपने अधूरे सपनों को पूरा जो करना है,

जो देखे थे मैंने अपनी बन्द आँखों से सपने,

उन सपनों को अब साकार करना है ,

लोगों का क्या है वो तो बस हम पर हँसते हैं,

उनकी हर कातिल हँसी को मुझे अब तालियों मे बदलना है ,

क्योंकि मुझे अपने सपनो को साकार करना है ।


Rate this content
Log in

More hindi story from Shubhi Agarwal

Similar hindi story from Inspirational