Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

इसरो वैज्ञानिक के नाम!

इसरो वैज्ञानिक के नाम!

1 min 328 1 min 328

पास होकर भी बिछड़ गए हम 

साहस बांध के आगे चल गए

अब दिल मैं है ग़म |

ये ग़म भी एक दिन चला जायेगा ,

फिर आएँगे चन्दामामा के पास हम |


आज नहीं तो कल और कब कर लेंगे ,

तुम्हारा हौसला और साहस न कभी टूटने देंगे |

आज नहीं हुआ तो कोई बात नहीं ,

कल नहीं तो फिर कभी हौसला जुटा लेंगे |


सारी दुनिया देख ली आज तुम्हारा 

ये हौसला और साहस |

कोशिश जो की है तुमने ,

निश्चित जीत है ये है आभास |


तुम जो रो पड़े, टूट पड़े 

बिखर गया ये दिल |

कोई बात नहीं एक ना एक दिन ,

फिर एक नया सवेरा होगा हासिल |


Rate this content
Log in

More hindi poem from Ranjita Das

Similar hindi poem from Inspirational