Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,
value of vote
value of vote
★★★★★

© Kumar Baban

Children

5 Minutes   7.0K    11


Content Ranking

रामपुर एक ऐसा गाँव है, जो बहुत पिछड़ा हुआ है जहाँ न तो सड़क है और घरो मे शौचालय है। यहाँ पर औरत और मर्द को शौच करने के लिए खेतो मे जाया करते है। गाँव मे कोई स्कूल नही है। यहाँ के लड़के और लड़कियो को पढ़ने के लिए दूसरे गाँव जाना पड़ता है जिस कारण वे लोग बीच मे ही पढ़ाई छोड़ देते है। इन सभी समस्याओ का कारण है, गाँव वाले अपने वोट का उपयोग ठीक से नही करते है। वे लोग पंचायत चुनाव, MLA, PM चुनाव मे अपना वोट गलत आदमी को दे देते है। गलत आदमी गाँव का मुखिया, शहर का MLA, और देश का PM बन जाता है। ये लोग गाँव का विकास नही करते है।  मगर छोटिया 11वर्ष की लड़की गाँव वालो को वोट का उपयोग बतलाती है। छोटिया दूसरे गाँव मे जाकर पढ़ती है।

छोटियाः माँ मैँ स्कूल जा रही हूँ।

छोटिया स्कूल पहुँच जाती है। टीचर:देखो बच्चो पंचायत चुनाव के कारण स्कूल 2 दिन बंद रहेगा। छोटियाः टीचर जी पंचायत चुनाव क्या होता है?

टीचर: छोटिया पंचायत चुनाव, mla, pm election मे हम लोग अपना वोट देकर सही मुखिया और सरपंच ,mla, pm को चुनते है।चुने हुए सही मुखिया और सरपंच, mla, pm गाँव का विकास करते है। यदि गाँव का विकास होगा तो देश का विकास होगा।

छोटियाःटीचर जी वोट क्या होता है। वोट देने से क्या फायदा होता है?

टीचर:छोटिया देखो इंसान जिसकी उम्र 18 वर्ष हो गई है, वे लोग अपना वोट देकर अपने सही प्रतिनिधि को चुनते है।चुने हुए प्रतिनिधि गाँव,शहर,देश का विकास करते है।

छोटियाःटीचर जी हम लोग का उम्र अभी 18 वर्ष नही है। तो हम लोग वोट नही दे सकते है।

टीचर:छोटिया भले तुम लोग वोट नही दे सकते हो मगर तुम लोग अपने माता पिता को कह सकते हो कि वह चुनाव के दिन अपना  वोट जरुर देने जाये। और अपना वोट सही प्रतिनिधि को दे।जिससे चुने हुए सही प्रतिनिधि गाँव का विकास करेगे।

टीचर: देखो बच्चो वोट देने वाले तीन प्रकार के लोग होते है।

छोटिया: टीचर कौन कौन से है।

टीचर: 1 जो अपना वोट सही प्रतिनिधि को देते है। 2 जो अपना वोट पैसे लेकर गलत प्रतिनिधि को देते है। 3 जो अपना वोट चुनाव के दिन नही देने जाते है।

टीचर: बच्चो चुनाव के दिन आदमी और औरत अपना वोट जाकर सही प्रतिनिधि को दे तो चुने हुए सही प्रतिनिधि गाँव का मुखिया और सरपंच बनेगे।वह गाँव विकास करेगे।जिससे गाँव मे स्कूल, सड़क, अस्पताल बनेगा। गाँव के हर एक घर मे शौचालय बनेगा। जिससे गाँव वाले लोगो को शौचालय करने के लिए खेतो मे जाना नही पड़ेगा। बच्चो को दुसरे गाँव पढ़ने के लिए जाना नही पड़ेगा। सरकारी पैसा का उपयोग गाँव के विकास मे होगा।

छोटिया स्कूल से घर आती है। और सोचती है कि हमारे गाँव के कुछ लोग तो वोट देने जाते है। और कुछ तो पैसे लेकर गलत आदमी को वोट देकर गाँव का सरपंच और मुखिया बना देते है। जो गाँव का विकास नही करते है।

छोटियाः देखो बापू इस बार पंचायत चुनाव मे अपना वोट जरुर देने जाना और सही आदमी को वोट देना।

बापूःछोटिया अरे छोरी तु भाँग पी कर आई है। मैँ काम छोड़कर वोट देने जाऊ? मेरे एक वोट सही आदमी को देने से क्या होगा इस गाँव के बहुत आदमी वोट देने नही जाते है। जो भी जाते है, पैसे लेकर वोट देते है।

छोटियाः बापू वोट देना सबसे बड़ा काम होता है यदि सभी आदमी सोचने लगे की  मेरे एक सही वोट न देने से क्या होगा। तो कभी हमारा गाँव विकास नही करेगा।

छोटियाःबापू यदि सभी गाँव वाले लोग आपना वोट चुनाव के दिन बिना किसी लालच मे आकर  सही प्रतिनिधि को वोट देकर सही आदमी को गाँव का मुखिया और संरपच बनाते है। तो हमारा गाँव मे विकास होगा। गाँव मे हर एक घर मे शौचालय बनेगा। औरतो, लड़कियो को शौच करने के लिए खेतो मे जाना नही पड़ेगा। गाँव मे स्कूल बनेगा। मुझे दूसरे गाँव जाकर पढ़ना नही पड़ेगा। गाँव मे सड़क, अस्पताल बनेगा।

बापूःछोटिया अरे छोरी मै तेरी बात मानकर चुनाव के दिन वोट देने चला भी जाता हुँ और सही प्रतिनिधि को वोट दे देता हुँ तो क्या मेरे एक वोट से सही प्रतिनिधि जीत जायेगा? क्या गाँव वाले चुनाव के दिन जाकर सही प्रतिनिधि को वोट देगे?

छोटियाः हाँ बापू देगे।

छोटिया अपने सहेलियो को एकत्र करती है। और कहती है।

छोटियाः देखो सहेली लोग हमारे गाँव मे पंचायत चुनाव हो रहा है। तुम लोग अपने माता पिता दादा दादी अपने बड़े भाई को चुनाव के दिन वोट देने को जरुर कहना और सही प्रतिनिधि को वोट दे और यह भी कहना कि पैसा लेकर गलत प्रतिनिधि को वोट न दे।

सहेली लोगःछोटिया इससे क्या फायदा होगा।

छोटियाः देखो सहेली लोग इस पंचायत चुनाव जिसकी उम्र 18 वर्ष हो गई वे लोग अपना वोट देकर सही मुखिया और संरपच को चुनते है। जो गाँव का विकास करते है। यदि वे लोग पैसा लेकर गलत प्रतिनिधि को वोट देते है।गलत आदमी गाँव का मुखिया और बन जाता है। वह गाँव का विकास नही करता है। यदि वोट सही को देते है तो सही आदमी गाँव का मुखिया ,संरपच बनता है तो गाँव के सब घर मे शौचालय बनेगा। हम लोगो को शौच करने के लिए खेतो मे जाना नही पड़ेगा।गाँव मे स्कूल बनेगा और हम लोगो को पढ़ने के लिए दुसरी गाँव जाना नही पड़ेगा। गाँव मे सड़क, अस्पताल बनेगा। गाँव साफ सुथरा रहेगा। यह सब कुछ तभी होगा जब हम लोग अपने माता पिता और बड़े को यह सब बाते बताये और उनसे कहे कि चुनाव के दिन अपनी सभी काम छोड़ कर वोट देने जाये और बिना किसी लालच के सही प्रतिनिधि को वोट दे।

सहेली लोगः छोटिया तुम ठीक बोल रही हो हम लोग सारी बाते अपने माता पिता को कहेगे।

सहली लोग अपने माता पिता को यह सब बतलाती है अगले दिन छोटिया अपने सहेलियो को लेकर गाँव के हर एक घर मे जाकर वोट का मोल हर एक औरत और मर्द को बताती है कि कैसे वोट का उपयोग कर के अपना और गाँव का विकास कर सकते है। गाँव वाले छोटिया की बाते मान जाते है। चुनाव के दिन सभी गाँव वाले अपने सभी काम छोड़कर सही प्रतिनिधि को वोट देते है जिससे गाँव का सही आदमी मुखिया और संरपच बनता है। गाँव के हरेक घर मे शौचालय, गाँव मे स्कूल, सड़क बनने लगता है। छोटिया के प्रयास से गाँव वाले वोट का मोल समझ जाते है।

 

vote children value

Rate the content


Originality
Flow
Language
Cover design

Comments

Post

Some text some message..