Participate in 31 Days : 31 Writing Prompts Season 3 contest and win a chance to get your ebook published
Participate in 31 Days : 31 Writing Prompts Season 3 contest and win a chance to get your ebook published

Shyam Kunvar Bharti

Classics


0.5  

Shyam Kunvar Bharti

Classics


भोजपुरी पारंपरिक होली गीत

भोजपुरी पारंपरिक होली गीत

1 min 391 1 min 391

बहियाँ छोड़ाई भाग जइबे

कान्हा रंग तोहसे न लगईबे

श्याम सुंदर बड़ा छलिया है तू

ढूँढे राधा घूमे गाँव गलिया है तू

अबीर गुलाल न लगईबे

कान्हा रंग तोहसे न लगईबे

कदम की डलिया काहे चढ़ी जाला

मारी कंकरिया गगरिया फोड़ी जाला

यमुना किनारे नाही घुमरी परइबे

कान्हा रंग तोहसे न लगईबे

लुकाई काहे मारेला पिचकारी

भिंग जाला चोली लहंगा हमारी

चुपके से बंसीया चोरईबे

कान्हा रंग तोहसे न लगईबे

गोपियन के संग होली खेले ला

बांसुरी बजाई होली तू गावेला

यसोदा माई जाई सब बतइबे

कान्हा रंग तोहसे न लगईबे


Rate this content
Log in

More english poem from Shyam Kunvar Bharti

Similar english poem from Classics