Shyam Kunvar Bharti

Classics Inspirational


2.3  

Shyam Kunvar Bharti

Classics Inspirational


भोजपुरी देवी गीत-४; कहे भारती

भोजपुरी देवी गीत-४; कहे भारती

1 min 146 1 min 146

भोजपुरी देवी गीत - ४; कहे भारती पुकार के


हाथ जोड़ी पईया पड़ी कहे भारती पुकार के|

आतंकियन मिटावा माई त्रिशूलवा के मार के|

देशवा दुशमनवा भारत अँखिया देखावेले|

जब देखा पीछे पिठवा बन्दुकिया चलावेले|

मरलु माई जईसे दइतवन मारा इनके संहार के|

हाथ जोड़ी पईया पड़ी कहे भारती पुकार के|


देशवा खुशहाली हरियाली अँखिया न सुहाला|

हंसत खेलत लोगवा देखी छतिया फटी जाला|

मारा माई मरलु जइसे दुरगवा गरदनिया उतार के|

हाथ जोड़ी पईया पड़ी कहे भारती पुकार के|


ऊंचा बा लीलार तोहरों अँखिया बा विशाल हो|

चंदरमा बा रूपवा माई काली केसिया कमाल हो|

दसभूजा शेरावाली चले तोहार शेरवा चिंघाड़ के|

हाथ जोड़ी पईया पड़ी कहे भारती पुकार के|


तोहरी किरीपा जगवा तिरंगा झंडवा लहराला|

सबके पछाड़ भारत तीसरी शक्ति आज कहाला|

करे लोगवा पूजनवा माई तोर रूपवा निहार के|

हाथ जोड़ी पईया पड़ी कहे भारती पुकार के|


छोडब न चरनिया माई भजनीया हम गाइब|

फेरा तू नजरिया माई हम नचनिया बन जाइब|

भगावा देशद्रोहियन चलावा देशवा ललकार के|

हाथ जोड़ी पईया पड़ी कहे भारती पुकार के|


Rate this content
Log in

More english poem from Shyam Kunvar Bharti

Similar english poem from Classics