Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!
Unlock solutions to your love life challenges, from choosing the right partner to navigating deception and loneliness, with the book "Lust Love & Liberation ". Click here to get your copy!

Ravi Purohit

Others

2  

Ravi Purohit

Others

डूबत तगादे-सा मन

डूबत तगादे-सा मन

1 min
184


नेह भी तुम्हारा

मिलता है 

तनख्वाह-सा

जैसे ऊंट के मुंह जीरा

सोच-सोच कर 

करता हूँ उपयोग

ताकि उम्र के महीने से पहले

रीत न जाए 

कहीं मेरी सौरम-जेब

और मैं

'फूटे करम थे मेरे' की

स्थाई वंदना-सा

गाया जाऊं

जिम्मेदारी की गालियों में 

फिर-फिर


या कि फिर

स्कूली पोषाहार-सा पोषण

हो जाए बीमार,

किसी सरकारी नल के 

पानी-सी

झपाक से बंद हो जाए

सांसें थक कर

तब किसी गरीब की 

बेटी की इज्जत-सा नाजुक

यह मन

साहूकार की बहियों में दर्ज

कटे अंगूठे-सा भरोसा

पगला जाए

चुनाव हारे बड़े नेता-सा...


तब यह उचाट-विचलित मन

फिर से 

भाग न खड़ा हो

छोरी के हाथ पीले करने के

डूबत तगादे सा।


Rate this content
Log in