Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Vijay Kumar

दोस्तो मेरा नाम विजय कुमार है में टिहरी गढ़वाल उत्तराखंड से हूँ कहानिया पढ़ना और कविताएं लिखना मेरा हमेशा से शौक रहा है कभी-कभी अमर उजाला राष्ट्रीय समाचार पत्र और सुमन सौरभ राष्ट्रीय पत्रिका में मेरी विचारो को जगह मिल जाती है. आप चाहे तो अपनी प्रतिक्रिया मुझे email (vk3458@gmail.com) भी कर सकते हो या मेरे facebook page "में और मेरी कविताएं" द्वारा भी मुझसे जुड सकते हो . read more

  Literary Colonel

मैं क्या लिखूं

Romance

अपना इजहार लिखूं या तुम्हारा वो इंकार लिखूं जुदाई की वो पीड़ा लिखूं या मिलन की वो खुशियां त...

1    206 0

इस बरसात में

Tragedy

इस बरसात में अब वो बात नहीं है मेरे हाथों में जो उसका हाथ नहीं है।

1    162 0

मेरी प्यारी बेटी है वो

Drama Others

एक घर में पैदा होकर भी दो-दो घरों को जोड़ती है वो। दूर हो या पास मेरी फिकर करती है जो, मेरी प्यारी ब...

1    6.7K 9

फौजी

Drama Inspirational

हर मुसीबत में याद आए फौजी जीवन की हर कठिनाई सहते फौजी फिर भी सीमा पर डटे है फौजी तुझको शत-शत नमन ...

1    7.0K 7

बच्चों को खेलते देखकर

Children Drama

अपना बचपन याद, आ गया एक बार फिर...!

1    13.5K 10

वो मिली कभी तो

Drama Romance

दौर चले गर बातों का तो, हम भी मुस्कुरा लेते हैं।

1    13.8K 6

बेबस बचपन

Drama

बचपन की किलकारियाँ आज बोझ से तम है...

1    6.8K 8

वो औरत

Drama Inspirational Tragedy

अपने घर की हर मुश्किल झेलकर वह अपना कर्तव्य निभाने आई है; देखो, आज फिर वह औरत दूसरों का घर सजाने आई ...

1    6.9K 4

कितना बदल गया है जमाना

Drama

आज मुश्किल हो गया है परिवार चलना, कितना बदल गया है जमाना।

1    6.7K 13