Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.
Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.

Richa Baijal

Others


3.5  

Richa Baijal

Others


डिअर डायरी : डे 1

डिअर डायरी : डे 1

2 mins 271 2 mins 271

डिअर डायरी       25.03.2020


 कोरोना ( कोविड - 19) ने दुनिया को अपने कहर से हिला दिया है। हमारे पी. एम्. को अब 8 पी.एम्. कहा जाने लगा है। इसका कारण है कि देशको डेमोनेटिज़ेशन के वक्त भी उन्होंने रात्रि 8 बजे सम्बोधित किया था। और अब कोरोना से बचाव के लिए सम्बोधित भी उन्होंने रात्रि 8 बजे ही किया। 21 मार्च को उन्होंने कहा कि 22 मार्च को जनता कर्फ्यू में सहयोग करें और शाम को 5 बजे उन लोगो को धन्यवाद् दें जो आपके लिए निरंतर कार्यरत हैं।

यहाँ उन्होंने बैंकर्स का नाम ही नहीं लिया। बैंकर्स वर्ग इससे खासा नाराज़ हुए। फिर भी अचानक पूरे दिन में के उस सन्नाटे के बाद 22 मार्च शाम 5 बजे लोगों ने थालियां बजाकर उन लोगों को धन्यवाद् दिया आँखों में आंसूं थे। लोग इतनी देर के बाद एक दूसरे को देखकर भावुक हो रहे थे। यूँ कह लीजिये कि इसी ख़ुशी में पटाखे फोड़े  जा रहे थे और थालियां बजायी जा रही थी। जनता कर्फ्यू सफल रहा था।

24 मार्च को मोदी जी ने फिर 8 बजे जनता से बात की।और अबकी बार उन्होंने कहा कि घर की देहलीज़ को लक्ष्मण रेखा समझे। बाहर न निकले।सोशल डिस्टेंस बनाये। अब बन्दे को कुछ भी समझ आ जाये , ये सोशल डिस्टेंस सर के ऊपर से जाना था। आप परिवार में रहते हो तब कैसे बच्चे से एक मीटर की दूरी बनाओगे , है न ? और ये जो मुश्किल लग रहा है न , जो  दोस्तों को गले लगाए बिना रह नहीं पा रहे हो ; वही भूल तुम्हारे जीवन में कोरोना वायरस की एंट्री कब करा देगा , तुम समझ भी नहीं पाओगे। और जब तक समझोगे , सांसें होगीं नहीं तुम्हारे पास।

मोदी की घोषणा के बाद अब २१ दिन का लॉक डाउन है। लॉक डाउन कर्फ्यू से उपरकी श्रेणी में रखा गया है। कोई अकारण घर से बाहर निकल रहा है तो पुलिस उसे दमदम पीट रही है। वक्त नहीं कट रहा है। लोग चम्पक और नटराज की कॉमिक्स का पीडीएफ भेज रहे हैं। नेटफ्लिक्स का रिचार्ज करा रहे हैं। ऐसी स्तिथि में घर का माहौल बेहद सुकून भरा है। बाहर निकलने से डर लग रहा है। कौन सा कदम वायरस की घर में ले आये, कोरोना हर पल का खौफ बन रहा है।


Rate this content
Log in