Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Neena Ghai

Others

5.0  

Neena Ghai

Others

जी ले आज

जी ले आज

1 min
158


यह काल चक्र है,

जो सदियों से अपनी निर्धारित

गति और समय से चला आ रहा है

यह आने वाले कल को

आज में बदल और

आज को बीते हुए कल में

बदलता जा रहा हैl


बीता कल वापिस न आता है कभी

आज का पल न खो देना तू कभी

आने वाले कल की उम्मीद

भूल कर न करना कभी

वह भी आज बन,

इस काल चक्र का हिस्सा

फिर बन जायेगा तेरा बीता कल कहींl


जी ले इस पल को

ये भी न सरक जाए

रेत बन हाथ से कहीं

ज़िन्दगी का लुत्फ़ उठाना है तो

जी ले आज का पल यहींl


Rate this content
Log in