Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer
Become a PUBLISHED AUTHOR at just 1999/- INR!! Limited Period Offer

Dr Shikha Tejswi ‘dhwani’

Others

2  

Dr Shikha Tejswi ‘dhwani’

Others

गाँव का दृश्य

गाँव का दृश्य

1 min
480


अद्भुत है दृश्य, यह है गाँव,

कितने है यहाँ, पेड़ पहाड़।

बहती है यहाँ नदियाँ कल कल,

दिल में होने लगती है हल चल।


मास्टर जी बरगद की छाँव में,

बैठ पढ़ाते हैं पहाड़ा।

सुस्ती लगती, झुक-झुक गिरते,

बच्चें हो जाते नौ दो ग्यारह।


मटके पानी के भर भर के,

गोपियाँ घर की ओर चली,

नटखट कान्हा पेड़ पे चढ़ कर,

गुलेल से मटके फोड़ हँसे।


हवा ताज़ी है, जल भी शीतल,

शोर भी है मद्धम-मद्धम।

जल्दी सोना, जल्दी उठना,

नियम निभायें सारे मनु जन।


Rate this content
Log in