Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests

Language


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Kamal Purohit

कमल पुरोहित "अपरिचित" अपरिचित यानी जिसका कोई परिचय नहीं और जिसका परिचय नही उसके बारे में कुछ लिखना बेमानी होगी। पहचान बस इतनी सी है भारत देश में जन्म हुआ और लेखन के शौक की वजह से साहित्य की दुनिया में कदम रखा है। read more

  Literary Colonel

यादें

Romance

तुम इस दिल से दूर चले तो, टूटे दिल के अरमान सारे।

1    273 0

आँख ये मेरी

Romance

कभी तो मेरे सामने आ ,तेरे दीदार को कबसे तरसती हैं ये आँखें मेरी

1    5 0

माँ पिता में श्रेष्ठ कौन

Others

माँ पिता में श्रेष्ठ कौन है ये सवाल बड़ा जटिल है जवाब इस यक्ष प्रश्न का देना लगभग मुश्किल...

1    229 0

आँगन

Inspirational

परंपरा सदियों से निभती, आई है इन गाँवों में। अब भी न्याय मिलें पंचों का पीपल पेड़ कि छाँवों में।

1    7 0

अंतर्द्वंद

Others

अगर उसे आना होता तो जाता नही। कोई और उसके दिल को भाता नही।

1    1 0

दिल मेरा

Others

जहां के जुल्म ओ सितम अब सहे न जाते है। भुला दिया है जहां को भी अब संगदिल मेरा।

1    2 0

जब जब मैंने तुझे लिखा

Romance

तेरे नैनों के काजल से, लिखना जब जब चाहा है। क्यों कलम जरा बहकती गयी? जब जब मैंने तुझे लिखा।

1    42 0

जीत हार

Drama

चाँद को फिर से छूने की ख्वाहिश जगी चाँद सा जब तुझे जग बताने लगा।

1    28 0

शिक्षा पर

Classics

ऐसे सज्जन ही सदा, सबके मन को भाय।

1    7 0

तेरे लिए

Others

चूड़ी बना तुझे मैं पहनने को रोज दूँ। लाया खरीद के मैं तिहानी तेरे लिए।

1    42 0

अंतर्द्वंद

Abstract

काश वह दूर न होता न ही यह अंतर्द्वंद होता।

1    316 0

पर्यावरण (दोहावली)

Inspirational

जितना धरती ने दिया, हो उसमे संतुष्ट। वरना यह पर्यावरण, हो जायेगा रुष्ट।।

2    48 0

मन और बच्चा

Abstract

फुरसतों में दिन पुराने याद आ ही जाते हैं उन दिनों की भीड़ में से अब नहीं दिखता कोई। आज से...

1    313 1

जिंदगी और पैसा

Drama

पैसे जितने पास मुश्किल उतनी बढ़ती जा रही।

1    24 0

वोटर वन्दना

Others

मेरे वादों में जितना दम और किसी में न होगा। वादा मेरा इतना भारी मन भर तो वजन होगा।

1    8 0

दृष्टिकोण

Abstract

बात बेटी को बचाने की करें सब भीड़ में। जुल्म फिर भी कम नही क्यों बेटियों पर हो रहा?

1    7 0

एक शहीद की गाथा

Inspirational Others

चलते चलते महावीर वो, साथी से कुछ बोल पड़ा। कहना मेरी माँ से इतना, शेरों सा वह खूब लड़ा।

2    311 22

तेरे हाथ पर मैंने रखा

Romance

जीत कर भी हारता हूँ, हार कर मैं जीतता।

1    27 1

खयालों की तर्जुमानी

Others

आईने से लड़ रही दुनिया ये सारी। आईने से मैं मगर लड़ता नहीं हूँ।

1    28 1

खोने लगा

Romance

मगर हुआ है ये आलम तुझे ही खोने लगा।

1    46 0

मनमानी

Inspirational

कहते है हार नही होती कोशिश करने वालो की

1    236 27

जिंदगी

Inspirational

मिला के हाथ बड़े छोटे साथ लड़ते है। जो आन खतरे में इस देश की कभी आती।

1    16 1

प्यादा

Inspirational

बाज़ी इक दाँव में पलट डाली। चाल गहरी कई चला फिर से।

1    11 1

समय

Drama

कोई योद्धा हो वो न फिर बच सका है।

1    18 0

माँ और बेटा

Others

एक उसकी दुआ से बढ़ेगा बशर। उसके साये में सारी दुआएँ पली।

1    51 0

माँ

Abstract

माँ भारती पुकारती वीरों की राह चल रक्षक बने बेटों ने "कमल" प्राण दे दिया।

1    71 0

गाँव का बचपन

Children Others

ये मेरा ज़िस्म सँग आया, वहीं पर मन रुका मेरा।

1    26 1

तुम बिन

Romance

कोशिशें दिल को हँसाने की किये हम, पर हँसी उसको नहीं आती है तुम बिन...

1    20 0

आजकल

Others

एक पल में ही मिल जाती थी जो खुशी। पाने में अब महीने लगे आजकल।

1    69 1

माँ

Tragedy

जन्मदात्री को भी दुनिया छलने लगी।

1    45 1

मानव और सृष्टि

Tragedy Inspirational

झूठी शान दिखावे में वो, इस धरती को तड़पाता...

1    126 5

पूछती है धरा

Tragedy

कह रहा है कमल आज सबसे यही क्या बताओगे गर प्रश्न पूछे धरा।

1    331 17