Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Kamal Purohit

कमल पुरोहित "अपरिचित" अपरिचित यानी जिसका कोई परिचय नहीं और जिसका परिचय नही उसके बारे में कुछ लिखना बेमानी होगी। पहचान बस इतनी सी है भारत देश में जन्म हुआ और लेखन के शौक की वजह से साहित्य की दुनिया में कदम रखा है। read more

  Literary Colonel

माँ (ग़ज़ल)

Abstract

फिर दवा भी पिलाती रही माँ हमें।

1    0 0

कोरोना

Others

जान आफत में सबकी आ जाये, बीज ऐसे न कोई तुम बोना

1    25 1

माँ (ग़ज़ल)

Abstract

तोड़ा था दिल मेरा जहां ने जोर से "कमल", यह वजह माँ थी मुझमें ये हिम्मत बनी रही।

1    210 1

रंगों की दुनिया (गजल)

Drama

बिना किसी के सँभाले "कमल", सँभल जाती।

1    202 2

बिखरे रंग

Abstract

जीवन की यह सच्चाई है, बिखरे रंग यही कहते।

1    208 2

माँ (ग़ज़ल)

Abstract

हज़ार बार ये सफ़्हे किताब के पलटे। सिखाया माँ ने जो पोथी सिखा नहीं पाई।

1    248 7

ग़ज़ल

Abstract

खुशी का फिर भला इज़हार किस लिए करता ?

1    284 2

चल कलम रे

Drama

बुरी नजर जिसने डाली, बस उसकी हुई पराजय।

1    336 14

किस लिए करता

Classics

शुमार है ये नमस्कार मेरी आदत में। मिला न कोई नमस्कार किस लिए करता? वो चाहते है कि खामोशियां मैं ओढ...

1    196 0

सच और झूठ

Abstract

सच हरदम ही जीता है आज भी सच ही जीता है।

1    329 1

लड़कों का जीवन

Tragedy

जब भी इन आँखों से, झर झर कर आँसू बहते है। क्यों लड़की जैसे रोते हो, लोग यही तो कहते ह

1    44 1

अनजान रिश्ता

Romance

तेरा दिल है अमानत पास मेरे ओ मेरी जानम, यही है सल्तनत मेरी हम इसपे जाँ निसारे हैं।

1    88 3

पितृ पक्ष (दोहें)

Classics

श्राद्ध कर्म करना सदा,रखना तुम यह याद पितरों के सत्कर्म से,मिट जाए अवसाद।। पितृदेव:

1    228 2

आखिर क्यों पराई हूँ

Tragedy

आखिर क्यों पराई हूँ ? आपको मिले तो जरूर बताना।

1    235 23

अग्निपरिक्षा

Tragedy

हर बार राम को लोकलाज का भय रहा हर बार सीता को तज दिया गया।

1    141 17

घर

Others

लोग आते रहे लोग जाते रहे। सिलसिला आने जाने का चलता रहा

1    229 4

ग़ज़ल

Others

ज़िंदगी फिर से आजमाने लगे खुद को ही गले लगाने लगे घोंट कर वो मेरा गला देखो तोहमत मु

1    139 3

करे कोई

Abstract

सच को मगर क़लम से तो लिक्खा करे कोई।

1    434 2

ग़ज़ल

Drama

मुहब्बत में उसकी मैं कितना तड़पता, तड़प मेरी उसको बताना है यारो।

1    334 0

जीने की कला

Inspirational

सुखी वही है हँस के जिसने, जीवन यहाँ गुजारा है। जिसने मन जीता लोगों का वो ही सबको प्यारा

1    283 0

दोहे

Others

शिशु की शैशव काल में, माता ही पहचान। माँ को ही वह समझता, अपना सारा जहान।।

1    189 1

गङ्गा

Drama

इसकी हालत क्या कर दी है अब तो यह मैली दिखती है।

1    222 13

ज़िंदगी

Abstract

मुस्कान अगर लब पे हो खिलती कभी कभी।

1    141 40

अधूरा ख़त

Romance

जाने कहाँ चला गया वो बस यादों में सताता है।

1    191 31

सफ़र

Abstract

इन्हीं यादों की दहलीजों पे अब तक ही खड़ा हूँ मैं।

1    170 1

रिश्ते

Drama

प्यार की चाशनी में उन्हें घोल लूँ।

1    188 24

मौन

Tragedy

मर्यादा के टूटने पर भी मौन देख रहा हूँ।

1    369 49

बेटी की रक्षा

Tragedy

जो तुमको छूना भी चाहे, दोज़ख में उसको पहुँचा दो।

1    215 32

चाँद/प्रियतम से संवाद

Romance

दीद को तेरी तरसे न अँखिया मेरी। हर घड़ी सामने तुझको पाया करूँ।

1    278 2

दुर्गा माँ

Others

बाद तेरे मंडपों में बस चरण का रज रहा सिंह चढ़ के आई...।

1    213 46

मिलती रहे दुआ

Tragedy

भूखा चुराए रोटी तो सब मारते उसे नेता चुराए तो नहीं मिलती उसे सज़ा।

1    242 6

कास का फूल

Abstract

कुछ समय साथ रह कर अतीत के पन्नों में चली जाती है।

1    395 26

डिजिटल युग

Others

कलाईयों में अब घड़ी कौन पहनता है, मोबाइल ने कलाइयों को सूना कर दिया।

1    156 1

वीर

Inspirational

मिटा देते जला देते है पापी को जड़ों से हम। हमारे सामने फिर पाप कोई कर न पाया है।

1    184 1

कलम चलेगी

Inspirational

लगता था वर्षों से सोया था। लेकिन अब मैं जाग चुका, बेजान सा पल भाग चुका।

1    143 1

तन्हाई और तेरा ख्याल

Romance

नहीं कर सकी अनकही सी जो बातें वो मेरी ग़ज़ल की बहर कर रही है।

1    253 10

अंतर्द्वंद-2

Romance

क्योंकि उस दिन तेरे अंदर भी एक दिल धड़केगा।

1    220 11

मुसव्विर

Romance

तू बना दे सबसे सुंदर चित्र इस संसार का।

1    287 39

जरूरी है

Inspirational

खुशी के साथ ग़म का बोझ भी ढोना जरूरी है।

1    161 2

सनम

Romance

आसमां के चाँद को यूँ ही जलाना है सनम।

1    245 41

ग़ज़ल

Others

भटके हुए तलाशते हैं अपना आशियाँ। दिन को चले जो ढूँढने तो रात हो गयी।

1    423 15

वतन

Inspirational

यूँ मुहब्बत तो आशिक़ की पहचान है। हम मुहब्बत तुझी से करेंगे वतन।

1    189 3

एक रिश्ता

Others

ठोकरें जब जब लगी तो हौसलों ने दम लगाया कुछ तो कर के है दिखाना सोच कर मैं मुस्कुराया

1    256 2

यादें

Romance

तुम इस दिल से दूर चले तो, टूटे दिल के अरमान सारे।

1    341 3

आँख ये मेरी

Romance

कभी तो मेरे सामने आ ,तेरे दीदार को कबसे तरसती हैं ये आँखें मेरी

1    176 2

माँ पिता में श्रेष्ठ कौन

Others

माँ पिता में श्रेष्ठ कौन है ये सवाल बड़ा जटिल है जवाब इस यक्ष प्रश्न का देना लगभग मुश्किल...

1    349 3

आँगन

Inspirational

परंपरा सदियों से निभती, आई है इन गाँवों में। अब भी न्याय मिलें पंचों का पीपल पेड़ कि छाँवों में।

1    101 4

अंतर्द्वंद

Others

अगर उसे आना होता तो जाता नही। कोई और उसके दिल को भाता नही।

1    114 0

दिल मेरा

Others

जहां के जुल्म ओ सितम अब सहे न जाते है। भुला दिया है जहां को भी अब संगदिल मेरा।

1    220 1

जब जब मैंने तुझे लिखा

Romance

तेरे नैनों के काजल से, लिखना जब जब चाहा है। क्यों कलम जरा बहकती गयी? जब जब मैंने तुझे लिखा।

1    277 2

जीत हार

Drama

चाँद को फिर से छूने की ख्वाहिश जगी चाँद सा जब तुझे जग बताने लगा।

1    174 1

शिक्षा पर

Classics

ऐसे सज्जन ही सदा, सबके मन को भाय।

1    218 3

तेरे लिए

Others

चूड़ी बना तुझे मैं पहनने को रोज दूँ। लाया खरीद के मैं तिहानी तेरे लिए।

1    108 3

अंतर्द्वंद

Abstract

काश वह दूर न होता न ही यह अंतर्द्वंद होता।

1    400 3

पर्यावरण (दोहावली)

Inspirational

जितना धरती ने दिया, हो उसमे संतुष्ट। वरना यह पर्यावरण, हो जायेगा रुष्ट।।

2    142 3

मन और बच्चा

Abstract

फुरसतों में दिन पुराने याद आ ही जाते हैं उन दिनों की भीड़ में से अब नहीं दिखता कोई। आज से...

1    376 4

जिंदगी और पैसा

Drama

पैसे जितने पास मुश्किल उतनी बढ़ती जा रही।

1    127 4

वोटर वन्दना

Others

मेरे वादों में जितना दम और किसी में न होगा। वादा मेरा इतना भारी मन भर तो वजन होगा।

1    379 1

दृष्टिकोण

Abstract

बात बेटी को बचाने की करें सब भीड़ में। जुल्म फिर भी कम नही क्यों बेटियों पर हो रहा?

1    192 0

एक शहीद की गाथा

Inspirational Others

चलते चलते महावीर वो, साथी से कुछ बोल पड़ा। कहना मेरी माँ से इतना, शेरों सा वह खूब लड़ा।

2    352 23

तेरे हाथ पर मैंने रखा

Romance

जीत कर भी हारता हूँ, हार कर मैं जीतता।

1    249 2

खयालों की तर्जुमानी

Others

आईने से लड़ रही दुनिया ये सारी। आईने से मैं मगर लड़ता नहीं हूँ।

1    261 2

खोने लगा

Romance

मगर हुआ है ये आलम तुझे ही खोने लगा।

1    216 0

मनमानी

Inspirational

कहते है हार नही होती कोशिश करने वालो की

1    263 28

जिंदगी

Inspirational

मिला के हाथ बड़े छोटे साथ लड़ते है। जो आन खतरे में इस देश की कभी आती।

1    205 2

प्यादा

Inspirational

बाज़ी इक दाँव में पलट डाली। चाल गहरी कई चला फिर से।

1    92 2

समय

Drama

कोई योद्धा हो वो न फिर बच सका है।

1    170 0

माँ और बेटा

Others

एक उसकी दुआ से बढ़ेगा बशर। उसके साये में सारी दुआएँ पली।

1    115 2

माँ

Abstract

माँ भारती पुकारती वीरों की राह चल रक्षक बने बेटों ने "कमल" प्राण दे दिया।

1    121 1

गाँव का बचपन

Children Others

ये मेरा ज़िस्म सँग आया, वहीं पर मन रुका मेरा।

1    326 1

तुम बिन

Romance

कोशिशें दिल को हँसाने की किये हम, पर हँसी उसको नहीं आती है तुम बिन...

1    272 0

आजकल

Others

एक पल में ही मिल जाती थी जो खुशी। पाने में अब महीने लगे आजकल।

1    124 1

माँ

Tragedy

जन्मदात्री को भी दुनिया छलने लगी।

1    139 1

मानव और सृष्टि

Tragedy Inspirational

झूठी शान दिखावे में वो, इस धरती को तड़पाता...

1    200 7

पूछती है धरा

Tragedy

कह रहा है कमल आज सबसे यही क्या बताओगे गर प्रश्न पूछे धरा।

1    385 18