कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : children

होस्टल भेज देने के नाम पर बच्चे के मन में उठने वाले स्वाभाविक प्रश्नों का यर्थाथ read more

10     12.8K    81    31

फिर से अपने बचपन की दुनिया में जा चुका था, जहाँ से उसे दिख रहा था अपना वो खूबसूरत read more

9     1.1K    77    88

छोटे बच्चे दिल के साफ और सच्चे होते है, उनके दिल में बड़ो की तरह कोई स्वार्थ नहीं read more

2     8.9K    641    100

बच्चों के बचपन की read more

2     8.6K    617    148

वह अपने दोनों पंख फैला कर परी रानी से माफ़ी मांगने के लिए बादलों को पार कर परी लोक की read more

4     1.2K    47    410

दूसरी बात, जब मैं पानी से हाइड्रोजन लेता हूं तब पानी में आक्सीजन भी होती है. इसे मैं read more

2     438    58    666

भावनाओं पर कोई नियंत्रण ही नहीं रख पाती । पर माँ की गलती है, कभी भी अचानक से read more

16     499    9    709

तो मैं पापा बन रहीं हूँ तो मुझे क्या आराम करना होता है, कल तुम्हारे पापा कह रहे थे, read more

2     861    37    769

सामने का दृश्य देखते ही जैसे उन्हें एक विद्युत का झटका लगा।सामने टाइगर बैठा था, खून read more

6     547    55    987

मुझे विश्वास होने लगा कि हमारे देश का भविष्य सुरक्षित हाथों में है read more

2     18.2K    51    1063

जिंदगी इतनी उलझी हुई है अब पता चला, अब ना वो तारे मिलते है आसमां में, ना नाना जी की read more

2     305    24    1110

रोबोट
© Govind Maurya

Children Fantasy

आज रोबोटों का अविष्कार हुए लगभग 4 -5 हजार वर्ष हो चुके हैं और रोबोटों ने भी विज्ञान read more

2     537    35    1281

परीक्षा
© Unknown Writer

Children Inspirational

अपने पिता की आत्मा की अपने साथ की गई धोखाधड़ी समझकर अगले साल से अपने पिता का श्राद्ध read more

10     9.1K    19    1432

जब-जब वो एक होने की सोचते हैं बिटिवन हमेशा उनकी लड़ाई करवा देता था और यह लड़ाई आज तक read more

2     503    18    1495

आपके संस्कार, आपके शिष्टाचार, आपकी विनम्रता एक तरफ है, किंतु यदि ये एक सीमा से अधिक read more

7     121    10    1818

“बहुत देर से सब जग रहे हैं, सोये नहीं, तुम्हारा ही राह देख रहे थे, read more

2     26    2    1846

माँ के आँखों में इक अजीब खुशी झलक रही थी ये सब बताते हुए मैने कहाँ 'अच्छा ये बात read more

4     349    10    1956

मेरा प्रिय शिष्य- कपिल शर्मा , श्री मोहन शर्मा जी का पुत्र। आज मैंने अपने बच्चों को read more

7     8.1K    52    2002

अब तो रोज़ ही गुब्बारे वाला पीहू के घर के सामने आकर बाँसुरी बजाने लगता। छोटी सी पीहू read more

2     639    42    2020

आपको पैसों की कीमत तब पता नहीं चलती जब आप खुद नहीं read more

2     395    48    2109

जन्मदिन पर एक अनोखा तोहफा, यह कहानी read more

9     14.4K    23    2145

सबके हाथ में चप्पल थीं। मोनू भी ठहाके लगा कर दूध पी रहा था। चप्पल वाले दूध का लुफ्त read more

3     454    16    2177

रिज़ल्ट
© Rita Chauhan

Children Inspirational

मैम को पछतावा था अपनी बात पर। उन्होंने माना कि हाँ उन्हें ऐसे किसी भी बच्चे को ऐसे read more

7     497    33    2241

अमीर तो वहीं जिसके साथ बैठ कर कोई छोटा महसूस न read more

1     79    4    2300

- "क्या भगवान मासूमीयत भी आपने पैसे वालों को दे दिया read more

1     101    4    2300

भरत और माँ ये देख कर खुश हो read more

2     51    3    2302

इस कहानी से पता चलता है कि स्थिति कैसी भी हो खुशी ढूंढने से मिलती read more

2     157    1    2305

गुरु के लिए सच्ची भक्ति और जिम्मेदारी का निर्वाह करने की शिक्षा देती लघु read more

2     10.5K    25    2392

वैसे तो भगवान कभी भी अपने बच्चों से ये नहीं कहते कि आप लोग मेरी तलाश करो। भगवान read more

3     387    10    2421

माँ मुझे पुचकारती, मेरे मुँह-नाक सिकोड़ने के बावजूद फिर से खाना बनाना शुरू हो जाती। read more

3     586    43    2457