Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

संदीप सिंधवाल

Children Stories Fantasy


2  

संदीप सिंधवाल

Children Stories Fantasy


मेरी बहना

मेरी बहना

1 min 125 1 min 125

बहना आँख का तारा, 

सबसे अजब प्यार।

दिलों दरम्यान बसा है, 

अपना ही संसार।।


अपना ही संसार, 

तू ही तब बड़ी लगती।

जिंदगी के तजुर्बे, 

साझा जब भी करती।।


कहे भ्रात 'सिंधवा'ल',

तेरे लिए सब सहना।

उमर के ढलाव पर, 

छोटी ही लगे बहना।।



Rate this content
Log in