Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!
Exclusive FREE session on RIG VEDA for you, Register now!

एक पयाम बादल को

एक पयाम बादल को

1 min 368 1 min 368

सुनो ओ मेघ!

ले जाओ गिला

अनकहा सा


जो बेबात ही

सबके होठों

पे ठहरा है।


धो डालो वो

शिकवे

जो कभी किसी

ने किसी से

कहे नहीं।

 


Rate this content
Log in