Quotes New

Audio

Forum

Read

Contests


Write

Sign in
Wohoo!,
Dear user,



Jeevan singh Parihar

Jay shree mahakal

  Literary Colonel

राही

Inspirational

मंज़िल भी मिल ही जाएगी, तू मेहनत कर मुसाफ़िर।

1    355 5

साहस

Inspirational

आडम्बरो और बाधाओं से लड़कर भी, विजयपथ के मार्ग पर चढ़ रहा हूँ।

1    394 6

स्वार्थी मनुष्य

Tragedy

ये कैसा इंसान है स्वार्थ सिद्ध करने में लगा रहता है ,अपने पैर जमाकर दूसरों के पैर खींचने में लगा रहत...

1    170 6

वृद्धाश्रम

Tragedy

तेरी उंगली पकड़कर, अपने दम पर तुझे एक पहचान दिलाई थी।

1    400 7

वास्तविकता

Abstract

खुद के जले पर मक्खन लगाते हैं लोग।

1    422 12

तुलना

Inspirational

क्यों कोसते हो,औरों को खुद पर नजर एक डालिये।

1    432 10

अनोखी रत्न.......बेटियाँ

Inspirational

एक बार मुझे मौका दे दो, मैं आसमान छू जाऊँगी।

1    286 10

आरक्षण

Drama

मत पीसो इस चक्की में, मैं भी इंसान हूँ, हाँ, मैं भी इंसान हूँ।

1    143 9

सुनहरा बचपन

Children

न भविष्य की चिंता थी, न वर्तमान का ठिकाना था, जो चल रहा था, उसमे सब राज़ी थे,

1    250 12

अद्वितीय

Drama

हाँ, ईश्वर का अद्भुत उपहार है, माँ।

1    103 9

बढ़ते कदम

Inspirational

None

1    344 30

रोजगार की तलाश

Drama

पीठ पर बैग और हाथ में रिज़्यूम लिये, जाएगा हर दफ़्तर की दहलीज पर।

1    329 30

आंतरिक इच्छाएँ

Tragedy

पापा, दे दो न आजादी ,मेरे सपनो को, मैं भी इतिहास गड़ना चाहता हूँ।

1    213 9

धरती के भगवान

Abstract

माटीपूत्र कहलाने वाला, समस्याओ से लड़ते-लड़ते , माटी में मिल जाता है, माटी में मिल जाता है । जय जव...

1    728 49

वक़्त

Abstract

इसे कोई नही पकड़ सकता है, किन्तु यह हर एक को जकड़ सकता है।

1    164 9

दोस्ती

Inspirational

यह ढाई अक्षर का नाम नहीं, यह तो अनुपम उपहार है। यह सुख-दुःख की साथी है, यह विस्तृत और विशाल है।

1    190 10

स्वार्थी लोग

Tragedy

गज़ब का ज़माना, और गज़ब के लोग है, साहब सच्चे और नेक कम, बहरूपिये ज्यादा है, साहब।

1    451 48

बचपन

Children

अच्छे भले थे हम उस बचपन के ज़माने में।

1    423 54