कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : others

माँ के आँखों में इक अजीब खुशी झलक रही थी ये सब बताते हुए मैने कहाँ 'अच्छा ये बात read more

4     261    9    918

अनंत कभी पिता नहीं बन सकता, छवि उदास हो जाती है, उसकी कामवाली को बेटी होती है जिसे read more

4     264    31    532

परिणति
© Indu Bhardwaj

Crime Inspirational +1

'कभी कबार लोग दौलत और शोहरत के लिए अपना इमां और आत्मा तक को बेच देते है, पर भगवन के read more

5     14.8K    18    1169

रानी और अमन एक छत के नीचे अजनबी जैसे रहते थे, पर समाज की वजह से साथ थे, रानी अमन और read more

8     355    30    533

Amazon best reads for August !!

“मैं टुटा तारा, किसी की दुआओं ने मारा, मेरी कुर्बानी किसी की खुशी है, यही मेरी read more

2     14.3K    28    1016

सरकार ने हमको बाहर का रास्ता दिखा दिया है। ये सरकार भी ना किसी की नहीं होती। जब read more

4     369    5    592

ऐसी यादगार रेल यात्रा जिसमे नल तो था पर पानी नहीं और तो और एसी था पर वो भी नहीं काम read more

7     159    4    597

विदेश में रास्ता पूछने पर महिला ने जिस तरह जवाब दिया उससे रमेश को बहुत बुरा लगा, पर read more

9     436    3    601

आयना दिखाने वाली read more

5     14.5K    25    639

ममता
© Saras Darbari

Others Tragedy

इंस्पेक्टर भी बच्चे का बवाल नहीं पालना चाहता था, इसलिए उसने ज़रूरी लिखा पढ़ी के बाद read more

3     246    10    649

'यह कहना नहीं भूलती कि उसके और पापा के अलावा किसी के लिए भी दरवाजा मत खोलना।' read more

2     7.9K    29    1487

बंधुत्व
© Manchikanti Smitha

Inspirational Others +1

बहुत देर हो चूकि थी लेकिन माँ अभी तक घर नहीं आई। मुझे देरी हो ने के कारण और read more

6     10.9K    53    99

मैं निरूत्तर हो गई और उनके द्वारा खोजे लड़के से विवाह के लिए हाँ कह दी read more

4     528    9    697

लेखक : राजगुरू द. आगरकर अनुवाद : आ. चारुमति read more

3     191    32    755

गया में उसका समय बहुत अच्छा गुजरा ,अममून हर जगह लड़की उसके साथ रही ,दोनों ने खूब read more

10     409    7    820

और फिर वो हल्की मुस्कान लिए रद्दी वाला, रद्दी वाला...की आवाज़ लगता दूर कहीं गलियों read more

13     130    3    830

चाचा वाले लडको ने सत्यवान के भाई को ढेर सारी दारु पिला दी और किसी सुनसान जगह ले जाकर read more

3     7.4K    29    1615

अस्पताल में आज भी तेरे चेहरे वही जिज्ञासा वही घबराहट थी जो परीक्षा के वक्त हुआ करती read more

2     229    2    833

अभिलाषा ने सोचा घर सारा काम पहले कर दूँगी तो सन्डे को घूमने जा पाऊँगी , पर सोहम को read more

6     337    1    836

रमा जी भी धीरे धीरे निधि का लंच पैक करके अपना और आयुष का नाश्ता बना कर खाने के लिए read more

3     414    38    846

'कपडे ऐसे मालूम पड़ते थे जैसे हफ़्तों पहले से पहने घूम रही हो | गले से सीने तक फटा हुआ read more

3     7.1K    15    2204

र दूसरी तरह कलुआ जी थे कि वो बरफ वाले कि बरफ की गाड़ी छोड़ने को तैयार नहीं..इनकी read more

2     445    53    864

लेखिका की समझ में ही नहीं आ रहा था कि उसकी रचना जिसे वह आत्मा से लिखती है ज्यादा read more

2     14.2K    30    874

Amazon best reads for August !!

शादी का मतलब बंधन नहीं साथ होता read more

14     15.3K    266    882

कालिदास की शकुन्तला की read more

45     15.4K    108    883

यह कथा "संगम साहित्य" तमिल पांच महाकाव्य में से एक है, जिसकी रचना ई. सा. ६०० के read more

2     7.5K    24    2653

मुखौटा
© Ira Johri

Inspirational Others

यदि समाज सेवा करना चाहती है तो अपनी ही प्रजाति को जन्म से पूर्व ही मारने के अपराध के read more

1     557    59    144

'लड़की हँसी और उसके हाथ पर अपना हाथ रख कहा, “कोई बात नहीं नाटक ख़त्म होने के बाद read more

9     14.2K    32    893

दोनो की सोच एक जैसी थी, दोनो को किताबें पढ़ने का शौक़ था, बहुत बातें दोनो में कॉमन थी read more

8     237    11    914

‘ठीकेदारिन कहते हैं उसे मज़दूर-रेज़ा, नेता-परेता। ठाठ तो देखिए...ठाड़े-ठाड़े गरियाती read more

8     14.0K    13    1943