कोट्स New

ऑडियो

मंच

पढ़ें

प्रतियोगिता


लिखें

साइन इन
Wohoo!,
Dear user,

नोट : कन्टेन्ट क्रमांक चुने हुए जोनर के तहत फिल्टर में प्रदर्शित होंगे : others

खैर कुछ दिनों बाद वो दिन भी आया जब हमें प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखना थे। जैसे कि read more

6     302    2    1098

Amazon best reads for August !!

एक एस्किमो कहानी अनुवाद : आ. चारुमति read more

4     391    5    1563

'लेकिन घर की आर्थिक स्थिति को समझते हुए उन्हें अपने फैसले बदलने पड़े | उन दिनों read more

4     16.1K    577    7

बचपन में बच्चों में अच्छी आदतें डालने के लिए माँ बाप को नये नये तरीके सोचने पड़ते हैं read more

4     16.0K    563    11

'अपाहिज बनी हुई एक महिला अपनी तकलीफ के लिये परिवार के ऑर लोगो को परेशान नहीं करना read more

5     8.6K    557    36

बच्चों के बचपन की read more

2     8.5K    541    40

'भोला के लिये गुरूजी उसके भगवान थे और उनकी हर आज्ञा पत्थर की लकीर थी | वह एक read more

4     15.5K    569    8

डाक्टर साहिबा ने अस्थाई उपचार के लिए थोड़ी सी दवाइयाँ दे दी, लेकिन स्थायी उपचार के read more

3     8.2K    554    38

उन दिनों, यानि आज से करीब ६० साल पहले, गणेश चतुर्थी के पर्व को, लोक भाषा में, लोग read more

2     6.4K    391    161

दफ़्तर के बाहर, कौओं की तेज काँव-काँव सुनकर कुछ लोग बाहर आए। मुझे देखकर उनको read more

9     19.3K    526    168

लाड़की
© Noorussaba Shayan

Crime Inspirational +1

'जिसे अपने कपड़ों , किताबों का ध्यान नहीं होता था वो अब मेरी दवाइयों और चाय का read more

4     7.6K    59    544

सर, मुझे दिल्ली में ही रहना है। मैं एक सप्ताह में ज्वाइन करने के लिए तैयार हूँ। और read more

4     15.4K    400    22

लेखक -अलेक्सान्द्र कुप्रिन अनुवाद - आ. चारुमति read more

23     423    47    224

स्कूल जाते समय एक नाग की वजह से लोकेश की साइकिल का संतुलन बिगड़ा और वो गहरी खाई में read more

10     83    3    437

पापड़ी
© Vikas Bhanti

Others Inspirational

कहानी सत्य घटना पर आधारित है read more

4     268    50    247

ये परम वीर चक्र इस बात का प्रतीक है कि आज भी देश जुड़ा है एक प्यार के बन्धन से अपनी read more

4     14.9K    35    921

समाज का read more

3     21.2K    23    251

रेल की टिकट नहीं मिली तो बस में सफ़र करना पड़ा, मेरी सीट के बगल में एक मोटा थुल थुल read more

10     375    6    263

मिल read more

2     14.0K    16    1180

'क्या तुम्हें मालूम है कि जहाज कैसे चलता है ? हमने कहा, जहाज के पीछे एक पंखा होता read more

4     8.4K    546    39

लेखक : इवान बूनिन अनुवाद : आ. चारुमति read more

8     217    50    337

इन्सान के पास जो होता है चाहे कितना भी क्यो ना हो फिर भी वो उससे संतुष्ट नहीं रह read more

8     200    46    342

This story is a translation of a Russian story, the original author is Konstantin read more

8     561    36    381

और हवा खामोश हो read more

20     16.6K    381    408

Amazon best reads for August !!

क्या हम महिलाओं का जीवन भी इसी फूली हुई रोटी के ही समान नहीं है? हम महिलाएं भी तो read more

5     9.8K    51    470

मैं वहीं खिड़की के पास बैठे-बैठे यही सब अंर्तद्वंद से लड़ते-लड़ते वहीं कब आँख लग गई read more

3     300    14    1680

मैं प्रथम श्रेणी डिस्टिंगशन से पास तो हो गयी पर कभी सास की बीमारी और फिर बेटी की वजह read more

6     374    9    533

कुछ रिश्ते बनते हैं ,अचानक उनमें एक रिश्ता है नेह का ,भाई-बहन का जो साथ पढ़ते बने और read more

3     513    37    558

पढ़ाई हमारे जीवन में क्या महत्व रखती है, इस कहानी में यही बताया गया read more

3     9.6K    657    50

'देख जरा मेरे बदन में चमड़े के पट्टे की निशानी साला मेरा मर्द रात को शराब पीकर आया read more

4     14.4K    24    1203