Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.
Read #1 book on Hinduism and enhance your understanding of ancient Indian history.

Vijay Kumar उपनाम "साखी"

Others


2  

Vijay Kumar उपनाम "साखी"

Others


कपटी मनुष्य

कपटी मनुष्य

2 mins 262 2 mins 262

बहुत समय पहले पृथ्वी पर वानरों का साम्राज्य था। मनुष्य समेत सभी जीव उनके अधीन थे।आविन देश मे सुयश नामक वानर का साम्राज्य था। वो अपनी प्रजा को अपने पुत्र की भांति प्यार करते थे। उनके ही राज्य में मंगलू नामक मनुष्य बड़ा ही कपटी था। वह महाराज का प्रधान सेवक था। वह सामने सबसे प्यार से बात करता परन्तु पीछे से वानरों के बारे में छोटी सोच रखता था। उन दिनों मनुष्य वानरों के गुलाम हुआ करते थे। उन दिनों राजा सुयश एक ऐसी टाइम मशीन बना रहे थे। जिसमें समय के पीछे जाकर कोई भी जीव अपना भाग्य बदल सकता है। मंगलू सामने तो महाराज से राम-राम करता परन्तु पीछे से बगल में छुरी रखता था।

एक दिन महाराज ने मंगलू को टाइम मशीन दिखाई। मंगलू उसे देख बहुत खुश हुआ। आखिरकार टाइम मशीन के परीक्षण का दिन आ ही गया। जंगल में महाराज सुयश मशीन के परीक्षण के लिये आ गये। साथ में उनका प्रधान सेवक मंगलू भी था। उसके मन मे कपट था। उसने रात में अपनी योजना बना ली थी। मंगलू ने रात को महाराज के दूध में एक ऐसी गोली मिला दी थी जिसके असर 8-10 घण्टे बाद होता था। इसके असर से शरीर मे अकड़न आ जाती थी। जैसे ही टाइम मशीन चालू हुई। महाराज सुयश का शरीर अकड़ने लगा। महाराज ने मंगलू को आवाज़ लगाई। मंगलू ने पास आकर महाराज को सहारा दिया। मशीन की सारी प्रक्रिया समझने के बाद उसने महाराज सुयश को एक पेड़ पर धक्का दे दिया। मंगलू ने टाइम मशीन से,समय के पीछे जाकर मनुष्य को सभी जीवों का राजा बना दिया। तब से अब तक बंदर अपने राज्य के लिये भटक रहे है।साथ ही अपने पूर्वज भी कहलाते है। क्योंकि पहले राज इनका ही था। वही मनुष्य आज राजा तो है, परन्तु वह अपना कपट आज भी नही छोड़ पाया है।


Rate this content
Log in